नई दिल्ली: अंतिम ओवरों में विजय शंकर और हर्षल पटेल की ताबड़तोड़ बल्लेबाजी से दिल्ली ने इंडियन प्रीमियर लीग में चेन्नई के खिलाफ पांच विकेट पर 162 रन बनाए. दिल्ली की टीम 14वें ओवर में 97 रन पर पांच विकेट गंवाने के बाद संकट में थी जिसके बाद विजय शंकर (नाबाद 36) और पटेल (नाबाद 36) ने 5.2 ओवर में छठे विकेट के लिए 65 रन की अटूट साझेदारी करके टीम को सम्मानजनक स्कोर तक पहुंचाया. पटेल ने 16 गेंद का सामना करते हुए चार छक्के और एक चौका मारा जबकि विजय शंकर ने 28 गेंद में दो छक्के और इतने ही चौके मारे. रिषभ पंत ने भी 26 गेंद में तीन चौकों और दो छक्कों की मदद से 38 रन की पारी खेली. Also Read - युवराज सिंह के 'धोनी का फेवरेट खिलाड़ी' वाले बयान पर सुरेश रैना ने दिया करारा जवाब

सुपरकिंग्स की ओर से तेज गेंदबाज लुंगी एनगिडी ने तीन ओवर में 14 रन देकर दो विकेट चटकाए. रविंद्र जडेजा ने किफायती गेंदबाजी करते हुए चार ओवर में 19 रन देकर एक विकेट हासिल किया. दीपक चाहर और शारदुल ठाकुर ने भी एक-एक विकेट हासिल किया. ड्वेन ब्रावो काफी महंगे साबित हुए और उन्होंने चार ओवर में 52 रन लुटाए. Also Read - रैना ने रोहित और MS Dhoni को लेकर दिया बड़ा बयान, बोले-दोनों एक जैसे कप्तान

सुपरकिंग्स के कप्तान धोनी ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया जिसके बाद दिल्ली की शुरुआत धीमी रही. पारी का आगाज पृथ्वी शॉ (17) और कप्तान श्रेयस अय्यर (19) ने किया जो मौजूदा सत्र में दिल्ली की आठवीं सलामी जोड़ी है. दीपक चाहर ने अपनी स्विंग से इन दोनों को परेशान किया. Also Read - अंबाती रायडू को वर्ल्ड कप टीम से बाहर किए जाने को लेकर गंभीर और एमएसके प्रसाद में हुई तीखी बहस

पृथ्वी ने चाहर पर चौके से खाता खोला और फिर इस तेज गेंदबाज के अगले ओवर में छक्का भी मारा. पृथ्वी हालांकि 16 रन के स्कोर पर भाग्यशाली रहे जब रविंद्र जडेजा की गेंद पर शारदुल ठाकुर ने उनका कैच टपका दिया. पृथ्वी हालांकि इसका फायदा नहीं उठा पाए और चाहर के अगले ओवर में लॉन्‍ग ऑन पर ठाकुर को ही कैच दे बैठे. अय्यर ने इसी ओवर में चाहर पर दो चौके मारे. दिल्ली की टीम ने पावर प्ले में एक विकेट पर 39 रन बनाए.

पंत ने हरभजन सिंह की गेंद पर चौके के साथ आठवें ओवर में टीम का स्कोर 50 रन के पार पहुंचाया. मौजूदा सत्र में डेयरडेविल्स के सबसे सफल बल्लेबाज पंत ने इस ऑफ स्पिनर के अगले ओवर में दो छक्के और एक चौका मारा. एनगिडी ने इसके बाद गेंदबाजी में वापसी करते हुए अय्यर और पंत को चार गेंद के भीतर पवेलियन भेजकर दिल्ली को दोहरा झटका दिया. अय्यर एनगिडी की अंदर आती गेंद को चूककर बोल्ड हुए जबकि पंत ने बड़ा शॉट खेलने की कोशिश में बाउंड्री पर ब्रावो को आसान कैच थमाया. अय्यर और पंत ने दूसरे विकेट के लिए 54 रन की साझेदारी की. पंत ने 26 गेंद का सामना करते हुए दो छक्के और तीन चौके मारे.

जडेजा ने ग्लेन मैक्सवेल (05) को बोल्ड करके दिल्ली को चौथा झटका दिया जबकि ठाकुर ने अभिषेक शर्मा (02) को हरभजन के हाथों कैच कराया. विजय शंकर ने ठाकुर की गेंद पर चौके के साथ 15वें ओवर में मेजबान टीम के रनों का सैकड़ा पूरा किया. विजय शंकर ने इसके बाद ठाकुर जबकि हर्षल पटेल ने ब्रावो की गेंद पर छक्का जड़ा.

पटेल ने ब्रावो के पारी के अंतिम ओवर में तीन जबकि विजय शंकर ने एक छक्का जड़ा जिससे ओवर में 26 रन बने. इसके दम पर ही दिल्‍ली 160 से ज्‍यादा का स्‍कोर खड़ा करने में सफल हुई.