नई दिल्ली : इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) के पांचवें सीजन के अपने पहले मुकाबले में बुधवार को दिल्ली डायनामोज का सामना एफसी पुणे सिटी से दिल्ली के जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम में होगा. इस मुकाबले के केंद्र में मेहमान कोच मिग्वेल एंजेल पुर्तगाल होंगे, जो बीते सीजन डायनामोज के कोच थे. स्पेनिश कोच की देखरेख में डायनामोज बीते सीजन में आठवें स्थान पर रही थी और दोनों के लिए बीता सीजन निराशा का विषय रहा था. Also Read - Tractor Parade Video: दिनभर उत्पात मचाने के बाद वापस लौटे किसान, देखें लाल किले का भयावह मंजर, पुलिसकर्मियों ने ऐसे बचाई अपनी जान

Also Read - High Alert in Punjab: CM अमरिंदर ने कहा, किसान तुरंत दिल्‍ली खाली करें, सरकार से बात रखें जारी

बीते सीजन के बाद पुर्तगाल ने डायनामोज छोड़ दिया था और एफसी पुणे सिटी से जुड़ गए थे. अब उनके सामने खुद को साबित करने की चुनौती है क्योंकि नई टीम के साथ वह अपनी पुरानी टीम को हराते हुए सीजन का विजयी आगाज करना चाहेंगे. Also Read - Farmers Tractor Rally: किसानों ने पलवल-फरीदाबाद बॉर्डर पर बैरिकेड्स तोड़ने की कोशिश की, बाल-बाल बचे एसपी

दिल्ली की टीम ने पुर्तगाल के स्थान पर एक अन्य स्पेनिश जोसेफ गोम्बाउ को अपना कोच बनाया है. जोसेफ ने इस टीम के विदेशी खिलाड़ियों की फौज को नए सिरे से खड़ा किया, जिससे कि वे टीम में शामिल प्रतिभाशाली भारतीय खिलाड़ियों के साथ बेहतर तालमेल बना सकें.

INDvsWI: पृथ्वी शॉ वेस्टइंडीज के खिलाफ बनायेंगे खास रिकॉर्ड, सचिन तेंदुलकर के क्लब में होंगे शामिल

गोम्बाउ ने अपने देश के चार खिलाड़ियों के साथ नए सीजन के लिए करार किया. मार्कोस तेबार इनमें से सबसे चर्चित नाम हैं. तेबार बीते सीजन में पुणे के लिए खेले थे और अब वह दूसरी बार दिल्ली के लिए खेलते दिखेंगे. बीते सीजन में मिडफील्ड में बेहतरीन प्रदर्शन किया था और अब उनसे यही उम्मीद है कि वह अपनी पुरानी टीम के खिलाफ भी चमकदार खेल जारी रखेंगे.

पुणे सिटी के पास कई स्टार खिलाड़ी हैं और पुर्तगाल के पास आक्रमण लाइन में चयन के लिए काफी कुछ है.पुणे के लिए एलिलियानो अल्फारो और मार्सेलिन्हो काफी अहम साबित होंगे. इनकी जोड़ी खतरनाक है और बीते सीजन में इन्होंने इसे साबित भी किया है. दिल्ली के डिफेंस को इनसे काफी सावधान रहने की जरूरत है.

INDvsWI: टीम इंडिया के टॉप बैटिंग ऑर्डर में आये नए खिलाड़ी, कोहली ने राजकोट टेस्ट से पहले बताया नाम

इसके अलावा तेजतर्रार विंगर आशिक कुरुनियन और निखिल पुजारी अलग-अलग छोर पर पुणे के लिए जिम्मेदारी सम्भालेंगे. दिल्ली के फुल बैक खिलाड़ियों को इन्हें रोकने के लिए एड़ी-चोटी का जोर लगाना होगा. पुणे की टीम स्थायित्व लिए नजर आती है और पुर्तगाल को सकारात्मक शुरुआत की उम्मीद है. हालांकि, दिल्ली की युवा टीम ऊर्जा से भरपूर है और वह पुणे को आसानी से तीन अंक नहीं लेने देगी.