देवधर ट्रॉफी 2019-20 (Deodhar Trophy 2019-20) के पहले मुकाबले में इंडिया बी ने इंडिया ए पर 108 रन से बड़ी जीत दर्ज की. जीत के हीरो रितुराज गायकवाड़ 113(122) और बाबा अपराजित 101*(101) रहे जिन्‍होंने शतकीय पारी खेली. विजय हजारे ट्रॉफी के दौरान भी अपराजित सर्वाधिक रन बनाने वालों की सूची में तीसरे स्‍थान पर रहे थे. Also Read - रितुराज गायकवाड़ बोले- CSK के खराब प्रदर्शन पर MS Dhoni ने की थी मुझसे बात, 'हमें अब करना होगा...'

Also Read - IPL 2021 में CSK के लिए सलामी बल्लेबाजी करना चाहते हैं रॉबिन उथप्पा

इंडिया बी ने पहले बल्‍लेबाजी करते हुए निर्धारित 50 ओवरों में 302/6 रन बनाए. लक्ष्‍य का पीछा करने के दौरान इंडिया ए 194 रन पर ही ऑलआउट हो गई. इंडिया बी के रोश कलारिया ने तीन जबकि मोहम्‍मद सिराज ने दो विकेट निकाले. Also Read - कप्तान धोनी के साथ बातचीत ने मेरी सोच को पूरी तरह बदल दिया: रुतुराज गायकवाड़

पढ़ें:- ‘शाकिब ने महज सट्टेबाजों की जानकारी नहीं दी, मैंने तो फिक्सिंग की थी’

इंडिया ए के कप्‍तान हनुमा विहारी ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी का फैसला किया. यह फैसला टीम के लिए घातक साबित हुआ. इंडिया बी के सलामी बल्‍लेबाज रितुराज गायकवाड़ ने 113 रन की अपनी पारी में आठ चौके और चार छक्‍के लगाए. हालांकि प्रयांक पांचाल 3(10) और यशस्‍वी जायसवाल 31(34) खास योगदान नहीं दे पाए.

तीसरे विकेट के लिए नए बल्‍लेबाज बाबा अपराजित और रितुराज के बीच 158 रन की अहम साझेदारी बनी. 42वें ओवर में रविचंद्रन अश्विन ने रितुराज को बोल्‍ड कर इस साझेदारी को तोड़ा. अंत में विजय शंकर 26(16) और कृष्‍णप्‍पा गौतम 19*(8) की तेज पारियों के दम पर इंडिया बी 302 रन बनाने में सफल रही.

पढ़ें:- भारतीय दिग्‍गज का बड़ा बयान, ‘वर्ल्‍ड कप में सेलेक्‍टर्स अनुष्‍का शर्मा को सर्व कर रहे थे चाय’

विशाल लक्ष्‍य का पीछा करने के दौरान इंडिया ए की शुरुआत बेहद खराब रही. महज 52 रन पर ही टीम ने अपने तीन विकेट गंवा दिए थे. अभिमन्‍यु ईश्वरन 20, देवदत्त पडिक्कल 10 और विष्‍णु विनोद 11 रन बनाकर आउट हुए. कप्‍तान हनुमा विहारी 59(82) इकलौते बल्‍लेबाज थे जिन्‍होंने अर्धशतकीय पारी खेली. पूरी टीम 48वें ओवर में ऑलआउट हो गई.