सिडनी: बॉल टेम्परिंग के लिए हर ओर से आलोचनाओं का सामना कर रहे ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज कैमरून बेनक्रॉफ्ट ने सभी से माफी मांगते हुए कहा है कि वह डर गए थे, इसलिए उन्होंने झूठ बोला. बेनक्रॉफ्ट पर बॉल टेम्परिंग मामले में नौ माह का प्रतिबंध लगा है. वेबसाइट ‘ईएसपीएनक्रिकइन्फो डॉट कॉम’ की रिपोर्ट के अनुसार, अपने बयान में बेनक्रॉफ्ट ने कहा, ‘मैंने झूठ बोला. मैंने सैंडपेपर के बारे में झूठ बोला. उस स्थिति में मैं काफी घबरा गया था. मैं माफी मांगता हूं. मैं इस पर शर्मिदा हूं.’ Also Read - Darwin Cricket League T20: ऑस्ट्रेलिया में T20 टूर्नामेंट का सजा मंच, पहले दिन खेले जाएंगे 6 मैच

बेनक्रॉफ्ट के अलावा इस मामले में स्टीव स्मिथ और डेविड वॉर्नर भी दोषी पाए गए हैं. दोनों पर 12 माह का प्रतिबंध लगा है. इन तीनों खिलाड़ियों को केपटाउन से ऑस्ट्रेलिया वापस भेज दिया गया और इस कारण ये जोहान्सबर्ग में होने वाले टेस्ट मैच का हिस्सा नहीं बनेंगे. अपनी इस हरकत के लिए सभी से माफी मांगते हुए बेनक्रॉफ्ट ने कहा कि मैं माफी मांगना चाहता हूं उन सभी लोगों से जिन्हें मैंने निराश किया है, खासकर बच्चों से. मैं जानता हूं कि मैंने लोगों को शर्मिदा किया है. इस स्थिति में शब्द अधिक मायने नहीं रखते हैं और इसलिए मैं आगे भविष्य में अपने काम पर काफी ध्यान दूंगा. मुझे जिंदगी भर इस चीज पर पछतावा रहेगा. अभी मैं केवल माफी के लिए कह सकता हूं. Also Read - AUSvPAK, Day-Night Test: ऑस्ट्रेलिया ने डे-नाइट टेस्ट से पहले इन 2 खिलाड़ियों को किया रिलीज

क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया की ओर से लगाए प्रतिबंध पर अपील के बारे में बेनक्रॉफ्ट ने कहा, ‘अभी मुझे मेरे प्रतिबंध से संबंधित कागजात मिले हैं और मैं इस प्रक्रिया की इज्जत करता हूं. मैं अपने प्रबंधक के साथ काम करूंगा और इसके बाद कदम बढ़ाऊंगा.’ दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ केपटाउन में खेले गए तीसरे टेस्ट मैच के तीसरे दिन बेनक्रॉफ्ट को गेंद से छेड़छाड़ करते हुए कैमरे में कैद कर लिया गया था. बाद में संवाददाता सम्मेलन में स्मिथ और बेनक्रॉफ्ट ने गलती को स्वीकार कर लिया था. इसमें वॉर्नर भी शामिल थे. (इनपुट-एजेंसी) Also Read - बॉल टेंपरिंग विवाद में प्रतिबंध लगाने वाले मार्क टेलर ने स्मिथ को कप्तान बनाने का किया समर्थन