नई दिल्ली: श्रीलंका क्रिकेट टीम के बल्लेबाज धनंजय डी सिल्वा पिता के अंतिम संस्कार के बाद अब टीम में लौटेंगे. 12 दिन पहले धनंजय के पिता की उनके घर के बाहर गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. इसके बाद उन्होंने वेस्टइंडीज दौरे से अपना नाम वापस ले लिया था. लेकिन, अब ऐसा माना रहा है कि वह टीम से जुड़ने के इच्छुक हैं. धनंजय सोमवार को वेस्टइंडीज जाएंगे. बुधवार से शुरू होने जा रहे पहले टेस्ट मैच में उनका खेलना संदिग्ध माना जा रहा है. लेकिन, वह दूसरे टेस्ट के लिए उपलब्ध रहेंगे. धनंजय ने पिछली चार पारियों में श्रीलंका के लिए तीन नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए दो शतक लगाए हैं.

23 मई को धनंजय के पिता रंजन डी सिल्वा की कोलंबो के दक्षिण स्थित राथमलाना क्षेत्र में गोली मार कर हत्या कर दी गई थी. धनंजय को अगले सुबह श्रीलंकाई टीम के साथ वेस्टइंडीज दौरे पर रवाना होना था. श्रीलंका क्रिकेट ने कहा था कि धनंजय इस सदमे से उबर पाने के बाद जब अच्छा महसूस करेंगे तब टीम में लौट सकते हैं. बोर्ड ने वेस्टइंडीज दौरे के लिए उनके नाम के स्थान पर किसी और खिलाड़ी के नाम की घोषणा नहीं की थी.

महिला एशिया कप2018: दहाई का आंकड़ा नहीं छू पाया कोई खिलाड़ी, भारत ने मलेशिया को 142 रन से हराया

गौरतलब है कि धनंजया श्रीलंका के प्रतिभाशाली खिलाड़ी हैं. वो टीम में बतौर बैटिंग ऑलराउंडर खेलते हैं. धनंजया के प्रदर्शन पर नजर डालें तो वह ठीक नजर आता है. उन्होंने 17 वनडे मैचों में 335 रन बनाए हैं. इस दौरान तीन अर्धशतक जड़े. धनंजया का सर्वश्रेष्ठ वनडे स्कोर 78 रन है. इसके अलावा 25 टेस्ट पारियों में 4 शतकों और 2 अर्धशतकों की मदद से 1066 रन बना चुके हैं. धनंजया का सर्वश्रेष्ठ टेस्ट स्कोर 173 रन है. उन्होंने टेस्ट मैचों में गेंदबाजी करते हुए 7 विकेट और वनडे मैचों में 4 विकेट हासिल किए हैं.