नई दिल्ली. महेन्द्र सिंह धोनी के करियर में ऐसे मौके बहुत कम ही देखने को मिले हैं जब उन्हें इंजरी हुई हो. न्यूजीलैंड के खिलाफ तीसरा वनडे ऐसे ही मौकों में से एक है. धोनी को हैमस्ट्रिंग इंजरी की शिकायत है, जिस वजह से वो इस मुकाबले को खेलने नहीं उतरे. इस बात पर मुहर खुद कप्तान विराट कोहली ने टॉस के वक्त लगाई. विराट ने कहा, ” धोनी को हैमस्ट्रिंग है. ऐसे में उनकी जगह पर दिनेश कार्तिक को टीम में जगह मिली है.” 14 साल के वनडे करियर में धोनी के लिए ये सिर्फ छठी बार था जब वो इंजरी या बीमार होने की वजह से कोई मुकाबला नहीं खेल रहे थे. और, इन सभी 6 मौकों पर धोनी के रिप्लेसमेंट के तौर पर दिनेश कार्तिक ही टीम इंडिया का हिस्सा बने हैं. Also Read - धोनी ने शुरू की अगले IPL की तैयारी, बोले- अगले साल को ध्यान में रखकर बाकी 3 मैचों में युवाओं को मौका देंगे

जब-जब इंजरी ने धोनी को जकड़ा Also Read - IPL इतिहास में पहली बार प्ले ऑफ की दौड़ से लगभग बाहर हुई चेन्नई, मुंबई से मिली 10 विकेट की हार, ये रहे 5 बड़े कारण

माउंट माउगेई वनडे से पहले धोनी आखिरी बार साल 2013 में वेस्टइंडीज में खेली ट्राई-सीरीज के 3 वनडे मैचों से बाहर रहे थे क्योंकि उन्हें हैमस्ट्रिंग इंजरी थी. वहीं, थोड़ा और पहले जाएं तो साल 2007 में धोनी को 2 मुकाबले वायरल फीवर की वजह से मिस करने पड़े थे. इनमें से एक मुकाबला आयरलैंड के खिलाफ था जबकि दूसरा साउथ अफ्रीका के खिलाफ. ये दोनों ही मुकाबले बेलफास्ट में खेले गए थे. Also Read - HIGHLIGHTS CSK vs MI: मुंबई ने चेन्नई सुपरकिंग्स को 10 विकेट से रौंदा

5 साल बाद मिला डबल रोल

इंजरी की वजह से माउंट माउंगेई वनडे से धोनी के बाहर होने के बाद टीम में दिनेश कार्तिक का रोल डबल हो गया है. क्रिकेट फील्ड पर वो पूरे 5 साल बाद डबल रोल में दिखने वाले हैं. डबल रोल से यहां मतलब उनकी बल्लेबाजी और कीपिंग से है. बता दें कि कार्तिक एक बल्लेबाज के तौर पर तो नीली जर्सी में टीम इंडिया का हिस्सा लगातार बने हुए लेकिन न्यूजीलैंड के खिलाफ सीरीज के तीसरे वनडे में उन्होंने कीपिंग ग्लब्स पूरे 5 साल बाद पहने हैं. कार्तिक ने आखिरी बार टीम इंडिया के लिए कीपिंग मार्च 2014 में की थी.