कोलकाता। टी-20 प्रारूप में अपने प्रदर्शन के लिए आलोचनाओं का सामना कर रहे दिग्गज खिलाड़ी महेंद्र सिंह धोनी को पूर्व भारतीय कप्तान सौरव गांगुली ने बल्लेबाजी शैली में बदलाव का सुझाव दिया है. गांगुली का कहना है कि अगर धोनी को टी-20 प्रारूप में सफलता हासिल करनी है, तो उन्हें अपनी बल्लेबाजी के तरीके में बदलाव करना होगा.Also Read - IND vs NZ, 2nd Test: Ajinkya Rahane के पास 'गोल्डन चांस', मुंबई टेस्ट में MS Dhoni को पछाड़ने का मौका

उल्लेखनीय है कि जहां एक ओर धोनी को टी-20 प्रारूप छोड़ने के लिए कहा जा रहा है, वहीं इन बातों से नाखुश कप्तान विराट कोहली और मुख्य कोच रवि शास्त्री के बाद अब गांगुली पूर्व कप्तान धोनी के समर्थन में उतरे हैं. Also Read - …बड़े दिल वाले हैं MSD, इरफान पठान बोले-अपनी इगो एक तरफ छोड़कर जडेजा को बनाया सबसे महंगा खिलाड़ी

गांगुली ने कहा कि वनडे की तुलना में टी-20 प्रारूप में धोनी का रिकॉर्ड कुछ खास नहीं है. मुझे आशा है कि इस बारे में कोहली और उनकी टीम धोनी से अलग से बात करेगी. उनमें अतुलनीय क्षमता है. अगर वह अलग तरीके से टी-20 में खेलते हैं, तो उन्हें निश्चित तौर पर सफलता हासिल होगी. ये भी पढ़ें- भुवनेश्वर कुमार की शादी की गेस्ट लिस्ट, सचिन-गावस्कर भी हैं इनवाइटेड Also Read - IPL 2022 Retention List: MS Dhoni से ज्यादा 'जूनियर' को मिलेंगे पैसे, जानिए कौन हैं सबसे महंगे कप्तान?

पूर्व कप्तान गांगुली ने कहा कि मुझे लगता है कि उन्हें वनडे क्रिकेट खेलते रहना चाहिए, लेकिन टी-20 प्रारूप में उन्हें अलग तरीके से खेलना चाहिए. उन्हें बिना किसी दबाव के इस प्रारूप में अपना प्रदर्शन करना चाहिए. हालांकि, यह चयनकर्ताओं पर भी निर्भर है कि वह किस तरह से धोनी को खिलाना चाहते हैं.

राजकोट में न्यूजीलैंड के खिलाफ खेले गए टी-20 मैच में भारतीय टीम को 40 रनों से मिली हार के बाद भारतीय टीम में धोनी के शामिल होने पर सवाल खड़े होने लगे थे. दिग्गज खिलाड़ी वीवीएस लक्ष्मण ने धोनी की स्ट्राइक रेट और बड़े शॉट पर सवालिया निशान खड़े किए थे.

इन सभी सवालों पर काफी समय तक चुप्पी साधे हुए धोनी ने दुबई में शनिवार को एक समारोह में मुस्कराते हुए कहा कि अपने जीवन में हर किसी के अपने विचार होते हैं और उनका सम्मान करना चाहिए. मैंने हमेशा से समझा है कि खेल में आप हमेशा कुछ न कुछ सीखते हैं.