भारतीय टीम के पूर्व चयनकर्ता दिलीप वेंगसरकर (Dilip Vengsarkar) ने बताया कि साल 2008 में तत्‍कालीन कप्‍तान महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni)  मौजूदा कप्‍तान विराट कोहली (Virat Kohli) को टीम में जगह देने को तैयार नहीं थे. Also Read - लॉकडाउन में बिना कुछ किए विराट कोहली ने कमाए करोड़ों, इस सूची में टॉप-10 में शामिल

न्‍यूज नेशन से बातचीत के दौरान दिलीप वेंगसरकर (Dilip Vengsarkar) ने कहा, “मैं और मेरे सहयोगियों ने यह निर्णय किया था कि अंडर-23 टीम के खिलाड़ियों को हम मुख्‍य टीम में जगह देंगे. उस वक्‍त हम अंडर-19 वर्ल्‍ड कप जीते थे. विराट कोहली (Virat Kohli) उस टीम के कप्‍तान थे. मैंने विराट को टीम में चुना.” Also Read - अनुष्‍का शर्मा की सनशाइन वाली पिक्‍चर पर फ्लैट हुए विराट कोहली, इंस्‍टाग्राम पर इस अंदाज में दिया जवाब

“विराट तकनीकी रूप से काफी अच्‍छा था. मुझे लगा की विराट को खेलना चाहिए. हमारी टीम श्रीलंका जाने वाली थी. मुझे लगा कि विराट को मौका देने का यह सही वक्‍त है. चयनसमिति में मेरे चार साथियों ने भी हामी भरते हुए कहा था कि जैसा तुम ठीक समझो भाई.” Also Read - लॉकडाउन में ये काम कर विराट कोहली ने कमाए 3.62 करोड़

दिलीप वेंगसरकर (Dilip Vengsarkar) ने आगे बताया, “उस वक्‍त तत्‍कालीन कोच गैरी कर्स्‍टन और धोनी ने ऐसा करने से साफ इनकार कर दिया था. उनका कहना था कि हमने उसे अबतक नहीं देखा है. हम अपनी मौजूदा टीम के साथ ही आगे बढ़ेंगे. मैंने उन्‍हें कहा था कि आपने उसे नहीं देखा होगा लेकिन मैंने उसे देखा है. हमें इस लड़के को लेना ही होगा.”

बता दें कि मौजूदा समय में विराट कोहली और महेंद्र सिंह धोनी बहुत अच्‍छे दोस्‍त हैं. धोनी ने विश्‍व कप 2019 के बाद से कोई अंतरराष्‍ट्रीय मैच नहीं खेला है. अब धोनी की राष्‍ट्रीय टीम में वापसी की राह भी काफी मुश्किल नजर आ रही है. इसके बावजूद विराट कोहली धोनी के समर्थन में बयान देते हुए दिखते हैं.