नई दिल्ली : श्रीलंका के कप्तान दिमुथ करूणारत्ने का मानना है कि विश्व कप के पहले दो मैचों में बल्लेबाजी पतन को देखते हुए टीम के बाकी बचे मैचों में मध्यक्रम के बल्लेबाजों को अधिक जिम्मेदारी निभानी होगी. श्रीलंका को विश्व कप के अपने पहले मैच में न्यूजीलैंड से दस विकेट से हार झेलनी पड़ी थी. इसके बाद उसने दूसरे मैच में अफगानिस्तान को 34 रन से हराया था. इन दोनों मैचों में श्रीलंका का मध्यक्रम नहीं चल पाया था.

करूणारत्ने ने कहा, ‘‘अगर हम पारी की अच्छी शुरुआत करते हैं तो हम उस लय को आगे बरकरार रख सकते हैं. पिछले दो मैचों पर गौर करने से पता चलता है कि हम अच्छी शुरुआत का फायदा उठाने में नाकाम रहे. ’’

न्यूजीलैंड के खिलाफ करूणारत्ने के नाबाद 52 रन के बावजूद श्रीलंका 136 रन पर आउट हो गया था. अफगानिस्तान के खिलाफ भी एक समय टीम का स्कोर एक विकेट पर 144 रन पर था लेकिन मध्यक्रम लड़खड़ाने से टीम 201 रन पर आउट हो गयी थी.

करूणारत्ने ने आईसीसी मीडिया से कहा, ‘‘हमें मध्यक्रम से योगदान की जरूरत है और मेरा मानना है कि बल्लेबाजी लाइनअप के हिसाब से यह हमारे लिये बेहद महत्वपूर्ण है. इसके अलावा मुझे लगता है कि एक टीम के रूप में हम अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं.’’

विश्वकप 2019: पोंटिंग ने बताई टीम इंडिया की रणनीति, ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ होगा ये प्लान!

श्रीलंका और पाकिस्तान के बीच का मैच शुक्रवार को लगातार बारिश के कारण रद्द करना पड़ा था. दोनों टीमों में अंक बांटे गये जिससे श्रीलंका और पाकिस्तान तालिका में क्रमश: तीसरे और चौथे स्थान पर पहुंच गये. करूणारत्ने ने कहा, ‘‘हम यहां क्रिकेट खेलने के लिये आये थे, इसलिए यह अच्छा नहीं है कि हम नहीं खेल पाये. हम टीम के रूप में वास्तव में निराश हैं लेकिन अब हम अगले मैच पर ध्यान दे रहे हैं. ’’ श्रीलंका अब 11 जून को बांग्लादेश से भिड़ेगा.