नई दिल्ली. श्रीलंका के कप्तान दिनेश चंडीमल वेस्टइंडीज के खिलाफ होने वाले तीसरे और आखिरी टेस्ट में नहीं खेलेंगे. उन पर बॉल टेंपरिंग को लेकर एक टेस्ट मैच का बैन लगाया गया गया है. इसके अलावा मैच फी का 100 फीसदी जुर्माना भी लगा है. चंडीमल पर आरोप है कि उन्होंने सीरीज के दूसरे टेस्ट के दौरान गेंद से छेड़छाड़ की थी, जिसका वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था, जिसे बाद में हटा भी लिया गया था.

बॉल टेंपरिंग में फंसे चांदीमल

दरअसल, ये पूरी घटना दूसरे टेस्ट के तीसरे दिन की थी जिसे लेकर चंडीमल को एक टेस्ट मैच का सस्पेंशन झेलना पड़ा है. कैरेबियाई टीम के खिलाफ श्रीलंका को विकेटों की दरकार थी. उसी वक्त अंपायर अलीम डार, इयान गुल्ड और टीवी अंपायर रिचर्ड कैटलबोरो ने चंडीमल के बॉल को चमकाने के तरीके पर आशंका जताई. ब्रॉडकास्टर्स से इसका फुटेज मांगा गया ताकि मामले की तह तक जाया जा सके.

दोषी पाए जाने पर लगा बैन

फुटेज में दिखा कि श्रीलंकाई कप्तान ने अपनी बाईं जेब से मिंट निकाल कर मुंह में रखा और बाद में मुंह से उसे बॉल पर लगा दिया. इसके बाद गेंद गेंदबाज लहीरू कुमारा को दी. फुटेज देखने के बाद अंपायरों ने दलील दी कि चंडीमल ने बॉल की कंडीशन बदलने के लिए ऐसा किया. उन पर आईसीसी कोड ऑफ कंडक्ट के उल्लंघन का आरोप लगाया गया.

बढ़ सकती हैं मुश्किलें

आईसीसी क्रिकेट कमेटी ने सिफारिश की थी कि अगर कोई खिलाड़ी बॉल टेम्परिंग का दोषी पाया जाता है तो उस पर एक या दो टेस्ट का नहीं, बल्कि चार टेस्ट से लेकर 8 वनडे इंटरनेशनल का बैन होना चाहिए. लेकिन, फिलहाल के लिए चंडीमल को सिर्फ एक मैच के लिए प्रतिबंधित किया गया है.

श्रीलंका पर सीरीज हार का खतरा बढ़ा

बहरहाल, श्रीलंकाई कप्तान पर एक टेस्ट मैच का बैैन लगने से श्रीलंका की मुश्किलें भी वेस्टइंडीज के खिलाफ टेस्ट सीरीज में बढ़ गईं हैं. दरअसल, चंडीमल कप्तान होने के साथ साथ टीम के मिडिल ऑर्डर की रीढ़ भी थे. और जब श्रीलंकाई टीम पर सीरीज हार का खतरा मंडरा रहा हो तो ऐसे में उनकी अहमियत और भी बढ़ जाती है. लेकिन, बॉल टेंपरिंग के डंक ने श्रींलका की सीरीज बराबर करने की उम्मीदों को तगड़ा झटका दिया है.