नई दिल्ली: दिनेश कार्तिक को एक समय में टीम इंडिया के स्टार विकेटकीपर बल्लेबाज माना जाता था. उन्होंने अपनी विकेटकीपिंग और बल्लेबाजी के दम पर सभी का मन मोह लिया था. कार्तिक ने टीम इंडिया के लिए साल 2004 में पदार्पण किया था. इसके बाद उन्होंने अगले छह साल तक शानदार प्रदर्शन किया. हालांकि इस दौरान कई बार उतार-चढ़ाव भी आए. लेकिन साल 2010 के बाद वो भारत की टेस्ट टीम से बाहर हो गए और अफगानिस्तान के खिलाफ टेस्ट टीम में वापसी की.

दरअसल कार्तिक की लम्बे अंतराल के बाद टीम इंडिया में वापसी हुई है. कार्तिक ने जनवरी 2010 से जून 2018 के बीच एक भी टेस्ट मैच नहीं खेला. इस दौरान भारत ने 87 मुकाबले खेले. इस दौरान कार्तिक के दो टेस्ट मैचों का अंतर काफी लम्बा रहा. उन्होंने इस मामले में पार्थिव पटेल को पीछे छोड़ दिया. पटेल ने 83 टेस्ट मैचों के बाद टीम इंडिया में वापसी की थी. वहीं इस लिस्ट में पार्थिव के बाद अभिनव मुकुंद का नंबर आता है. उन्होंने 56 टेस्ट मैचों के बाद वापसी की थी. हालांकि उन्होंने अभी तक भारत के लिए महज 7 टेस्ट मुकाबले ही खेले हैं.

INDvAFG: मुरली ने जड़ा 12वां टेस्ट शतक, सहवाग का रिकॉर्ड तोड़ने से एक कदम पीछे

कार्तिक ने टीम इंडिया के पहला टेस्ट मैच ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ नवम्बर 2004 में खेला था. वहीं आखिरी टेस्ट मैच बांग्लादेश के खिलाफ जनवरी 2010 में खेला था. 2010 के बाद टीम इंडिया ने कुल 87 टेस्ट मैच खेले, लेकिन इस दौरान कार्तिक टीम से नदारद रहे. हालांकि अब उन्हें अफगानिस्तान के खिलाफ वापसी का मौका मिला. कार्तिक ने टेस्ट मैच में लम्बे अंतराल के मामले में पार्थिव पटेल को भी पीछे छोड़ दिया.

VIDEO: धवन का विकेट लेकर अफगान गेंदबाज ने किया कारनामा, ऐसा करने वाला पहला खिलाड़ी बना

बता दें कि कार्तिक ने अब तक 38 टेस्ट पारियां खेली हैं, जिनमें 1001 रन बना चुके हैं. इस दौरान उन्होंने 1 शतक और 7 अर्धशतक जड़े हैं. कार्तिक का सर्वश्रेष्ठ टेस्ट स्कोर 129 रन है. उन्होंने 49.88 की स्ट्राइक रेट से रन बनाए हैं. अगर उनके वनडे रिकॉर्ड को देखें तो वो 67 वनडे पारियों में 1496 रन बना चुके हैं. इस दौरान 9 अर्धशतक जड़े हैं. कार्तिक का सर्वश्रेष्ठ वनडे स्कोर 79 रन रहा है.