नई दिल्ली: इंग्लैंड के खिलाफ प्रभावी पारियां खेलने के ठीक दस साल बाद उसी प्रतिद्वंद्वी के खिलाफ टेस्ट श्रृंखला खेलने जा रहे दिनेश कार्तिक नर्वस तो हैं लेकिन रोमांचित भी हैं. कार्तिक ने जून में अफगानिस्तान के खिलाफ टेस्ट क्रिकेटमें वापसी की. भारत के नियमित टेस्ट विकेटकीपर ऋधिमान साहा के कंधे के आपरेशन के कारण टीम से बाहर होने की वजह से उन्हें मौका मिला है.

इंग्लैंड में 2007 में हुई श्रृंखला में कार्तिक ने लॉडर्स पर 60, ट्रेंट ब्रिज में 77 और ओवल पर 91 रन बनाये थे. उन्होंने बीसीसीआई टीवी से कहा, ‘‘मैं नर्वस हूं और थोड़ा रोमांचित भी. लंबे समय बाद टेस्ट क्रिकेट खेल रहा हू. इंग्लैंड में खेलना काफी चुनौतीपूर्ण है और बाकी खिलाड़ियों की तरह मैं भी उत्साहित हूं.’’

धोनी ने श्रेयस अय्यर के टीम इंडिया में एंट्री के बाद अखबार पढ़ने पर लगाया बैन!

उस समय राहुल द्रविड़ की कप्तानी में टेस्ट श्रृंखला जीतने वाली भारतीय टीम से सिर्फ कार्तिक ही मौजूदा टीम में हैं. उन्होंने कहा, ‘‘मुझे इतना पीछे का याद नहीं रहता. मेरी याददाश्त बहुत खराब है. मुझे इतना याद है कि मेरा प्रदर्शन अच्छा था. यह उन कुछ श्रृंखलाओं में से थी जिसमें तीनों टेस्टमें दोनों टीमों ने समान एकादश उतारी.’’

टीम इंडिया के तेज गेंदबाजों का कहर, ’50 सेकेंड’ में देखें इंग्लैंड में धारदार गेंदबाजी

बता दें कि कार्तिक इंग्लैंड के खिलाफ इससे पहले भी खेल चुके हैं. अगर उनके ओवरऑल टेस्ट क्रिकेट के प्रदर्शन को देखें तो उन्होंने 38 टेस्ट पारियों में 1004 रन बनाए हैं. इस दौरान उन्होंने 1 शतक और 7 अर्धशतक जड़े. कार्तिक का सर्वश्रेष्ठ टेस्ट स्कोर 129 रन है. खास बात यह है कि उन्होंने 49.65 के स्ट्राइक को बरकरार रखा है.