निदाहास ट्रॉफी फाइनल मैच में बांग्लादेश के खिलाफ मैच में आखिरी गेंद पर छक्का लगाकर भारत को खिताबी जीत दिलाने वाले दिनेश कार्तिक (Dinesh Karthik) खुद को फिनिशर की भूमिका में साबित करने का मौका चाहते हैं।

एक कार्यक्रम के दौरान चेन्नई पहुंचे कार्तिक ने टीम इंडिया (Team India) में वापसी पर बात की और कहा कि वो किसी भी क्रिकेटर की तरह वो भी राष्ट्रीय टीम में वापसी का पूरा प्रयास कर रहे हैं।

कार्तिक ने कहा, “फिनिशर की भूमिका ऐसी चीज है जिसका में काफी आनंद लेता हूं। अगर मुझे मौका मिला को मैं निश्चित तौर पर खुद को दोबारा साबित करने की कोशिश करूंगा। हर कई भारतीय टीम में वापसी को कोशिश करता है, मैं अलग नहीं हूं। मैं फिर से भारतीय क्रम का हिस्सा बनने के लिए कड़ी मेहनत कर रहा हूं।”

टीम को जीत दिलाने के लिए हर मुश्किल से गुजरने को तैयार हैं दिनेश कार्तिक

इस मौके पर कार्तिक ने ये भी बताया की अगामी रणजी ट्रॉफी टूर्नामेंट में वो तमिलनाडु की कप्तानी नहीं करेंगे हालांकि उनका संन्यास लेने का भी कोई इरादा नहीं है।

तमिलनाडु को सैयद मुश्ताक अली टूर्नामेंट के फाइनल में पहुंचाने वाले कार्तिक ने कहा, “मैं रेड बॉल क्रिकेट से रिटायर नहीं हो रहा हूं। फिलहाल मैं पहले दो मैचों में खेल रहा हूं और वहां से आगे की सोचूंगा। कप्तान को लेकर, मुझे लगता है कि ये समय किसी युवा खिलाड़ी के आगे आकर जिम्मेदारी लेने का है, कोई ऐसा जो अगले 3-4 साल तक तमिलनाडु क्रिकेट का नेतृत्व कर सके।”