भारतीय पैरा एथलीटों का दुबई वर्ल्ड पैरा एथलेटिक्स चैंपियनशिप (Dubai 2019 World Para Athletics Championships) में शानदार प्रदर्शन जारी है. भारत ने मौजूदा चैंपियनशिप में अब तक कुल 6 पदक अपने नाम किए हैं जिसमें तीन ब्रॉन्ज मेडल शामिल हैं.

INDvBAN, 1st Test: अनिल कुंबले और हरभजन सिंह के क्लब में शामिल हुए रविचंद्रन अश्विन

निषाद कुमार (Nishad Kumar) ने दो मीटर का सर्वश्रेष्ठ निजी प्रदर्शन करते हुए पुरूषों की ऊंची कूद टी47 में ब्रॉन्ज मेडल जीतने के साथ टोक्यो पैरालंपिक 2020 का कोटा (2020 Tokyo Paralympic Games) भी हासिल कर लिया है.

निषाद का यह कोटा टोक्यो खेलों के लिए भारत का 9वां कोटा है. लंदन में 2017 में हुई चैंपियनशिप (2017 London Worlds) में भारत ने कुल पांच पदक जीते थे.

रियो पैरालंपिक चैंपियन और विश्व रिकॉर्ड धारी अमेरिका के रोडरिक टाउनसेंड राबर्ट्स (USA’s Rio Paralympic champion and world record holder Roderick Townsend-Roberts) ने 2. 03 मीटर के साथ गोल्ड मेडल जीता. वहीं चीन के होंगजे चेन को कांस्य पदक मिला.

‘पदक जीतने के बारे में कभी सोचा नहीं था’

‘मैं बहुत खुश हूं. यह मेरी पहली वर्ल्ड चैंपियनशिप (first World Championships) है. मैंने कभी सोचा नहीं था कि पदक जीतूंगा. मेरा अगला लक्ष्य टोक्यो पैरालंपिक 2020 (Tokyo 2020 Paralympics) है.’– निषाद कुमार

दस साल के बाद पाकिस्तान में लौटेगा टेस्ट क्रिकेट, दो मैचों की सीरीज खेलेगी श्रीलंका

भारतीय कोच सत्यनारायण ने कहा कि निषाद में अपार संभावनाएं हैं और वह टोक्यो में पदक का प्रबल दावेदार होगा. सत्यनारायण वही कोच हैं जिनकी देखरेख में रियो पैरालंपिक 2016 में मरियप्पन थंगावेलू (Mariyappan Thangavelu) ने गोल्ड मेडल पर कब्जा किया था.