नई दिल्ली: ड्वेन ब्रावो और उनके भाई डैरेन ब्रावो के अलावा केरन पोलार्ड, सुनील नरेन वेस्टइंडीज की राष्ट्रीय टीम में वापसी कर सकते हैं. खिलाड़ियों और क्रिकेट वेस्टइंडीज (सीडब्ल्यूआई) के बीच हुई चर्चा में इस बात के संकेत मिले हैं कि यह सभी अगले साल इंग्लैंड में होने वाले विश्व कप का हिस्सा हो सकते हैं. Also Read - IPL 2021 : मेगा ऑक्शन में इन 3 खिलाड़ियों को रिटेन कर सकती है Chennai Super Kings, ये है वजह

Also Read - IPL 2021: ड्वेन ब्रावो-डेल स्टेन जैसे स्टार खिलाड़ियों को रिलीज कर सकती हैं फ्रेंचाइजी, जानिए क्या है पूरा मामला

सीडब्ल्यूआई ने फैसला किया है कि वो अपने 50 ओवरों के टूर्नामेंट सुपर-50 को फरवरी-2019 के बजाए इसी साल अक्टूबर में आयोजित कराएगा. इसका मतलब है कि सुपर-50 टूर्नामेंट और बाकी देशों में होने वाली टी-20 लीगों के बीच समय होगा. इसी कारण यह खिलाड़ी सुपर-50 टूर्नामेंट में खेल विश्व कप टीम के लिए दावेदारी पेश कर सकेंगे. Also Read - IPL 2020: CSK को बड़ा झटका, टूर्नामेंट से बाहर हुए ड्वेन ब्रावो

स्टोक्स ने दी टीम इंडिया को चेतावनी, ऑलराउंड प्रदर्शन कर जीता मैदान

सीडब्ल्यूआई का नियम है कि जो खिलाड़ी घरेलू टूर्नामेंट में खेलेंगे वही राष्ट्रीय टीम में चयन के हकदार होंगे. कई वर्षो से यह खिलाड़ी अपने देश के घरेलू टूर्नामेंट में नहीं खेले हैं क्योंकि इन सभी ने बाकी देशों की टी-20 लीग में खेलने को प्राथमिकता दी थी.

सीडब्ल्यूआई के मुख्य कार्यकारी अधिकारी जॉनी ग्रेव ने कहा, “कुल मिलाकर ब्रावो बंधुओं, नरेन और पोलार्ड को यह संदेश दिया गया है कि आप आएं और सुपर-50 टूर्नामेंट में खेलें ताकि मुख्य चयनकर्ता कर्टनी ब्राउन की चयनसमिति सभी खिलाड़ियों को चयन के लिए परख सके.”

धोनी की ट्रेनिंग में तैयार हुआ टीम इंडिया का नया विकेटकीपर, टेस्ट सीरीज में दिखेगा जलवा

उन्होंने कहा, “इनके आने से न सिर्फ लीग का स्तर बढ़ेगा बल्कि चयन समिति को भी चयन के लिए माथापच्ची करनी पड़ेगी.” ब्राउन ने कहा कि वह इन खिलाड़ियों को लीग में खेलता देखने के लिए तैयार हैं.