नई दिल्ली: इंडियन प्रीमियर लीग के सीजन 11 में चेन्नई सुपरकिंग्स के प्रदर्शन को देखकर लगता है कि यह टीम सिर्फ जीत हासिल करने के लिए मैदान में उतरती है. रविवार को महेन्द्र सिंह धोनी की कप्तानी में चेन्नई ने सनराइजर्स हैदराबाद को रोमांचक मुकाबले में 4 रन से हराया. चेन्नई ने इस सीजन में 5 मैच खेले, जिनमें से चार मैच जीते हैं और चारों मैच बेहद रोमांचक रहे. हैदराबाद के खिलाफ खेले गए इस मुकाबले में चेन्नई ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 183 रन का लक्ष्य दिया. इसके जवाब में हैदराबाद को आखिरी ओवर में 19 रन चाहिए थे, जिसे वो बना नहीं सके. यह ओवर काफी दिलचस्प रहा.Also Read - अब Sourav Ganguly समेत Jay Shah की होगी BCCI से छुट्टी!

Also Read - टीम इंडिया की कप्तानी का मौका मिलना सम्मान की बात होगी: जसप्रीत बुमराह

चेन्नई के दिए लक्ष्य का पीछा करने उतरी टीम हैदराबाद के लिए केन विलियमसन और रिकी भुई ओपनिंग करने आए. इस दौरान भुई पहली ही बिन रन बनाए पवेलियन लौटे. विलियमसन ने दमदार प्रदर्शन करते हुए 84 रन बनाए. टीम ने आखिरी ओवर तक 6 विकेट गंवा दिए थे. 20 ओवर में ऋध्दिमान साहा और राशिद खान बल्लेबाजी कर रह थे. चेन्नई की तरफ से ये ओवर ड्वेन ब्रावो कर रहे थे. ब्रावो ने इस ओवर में 14 रन दिए और टीम को चार रन से जिता दिया. मैच का रोमांच तब बढ़ गया, जब राशिद ने दो छक्के और एक चौका जड़ दिया. Also Read - Virat Kohli के नाम Ravichandran Ashwin का ट्वीट, लिखी दिल को छूने वाली बात

डेब्यू मैच में मुंबई का खेल बिगाड़ने वाला खतरनाक गेंदबाज, 2 मिनट में पढ़ें कैसे बना राजस्थान का हीरो

आखिरी में 19 रन चाहिए थे. ब्रावो ने 20वें ओवर की पहली गेंद फेंकी, जिस पर साहा रन नहीं बना पाए. दूसरी गेंद पर दो रन मिले. तीसरे गेंद पर सिंगल लिया. इसके बाद राशिद के पास स्ट्राइक पहुंच गई. राशिद ने चौथी गेंद पर छक्का जड़ा दिया. अब टीम के दो गेंदों में 10 रन चाहिए थे. इस समय तक दर्शकों की धड़कने थम गईं थीं. ब्रावो की पांचवीं गेंद पर राशिद ने चौका जड़ दिया. अब आखिरी गेंद पर सिर्फ एक छक्के की जरूरत थी. ब्रावो ने इस ओवर के दौरान कप्तान धोनी से भी चर्चा की. इसके बाद आखिरी गेंद पर राशिद सिर्फ 1 रन ले पाए और चेन्नई ने मुकाबला 4 रन से जीत लिया.

वीडियो देखने के लिए क्लिक करें…

टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करते हुए चेन्नई ने 20 ओवर में 3 विकेट खोकर 182 रन बनाए. इस दौरान अंबाती रायडू ने शानदार प्रदर्शन करते हुए 37 गेंदों में 79 रन बनाए. वहीं सुरेश रैना ने 43 गेंदों का सामना करते हुए 54 रन बनाए. अंत में धोनी ने 12 गेंदों में 25 रन बनाए. इसके जवाब में हैदराबाद के लिए बल्लेबाजी करते हुए विलियमसन ने 5 छक्कों और 5 चौकों की मदद से 84 रन बनाए. यूसुफ पठान ने 45 रन की अहम पारी खेली. हालांकि वो भी टीम को जीत नहीं दिला सके.