अपनी घातक गेंदबाजी के दुनिया भर के बल्लेबाजों को डराने वाले पूर्व विंडीज तेज गेंदबाज माइकल होल्डिंग (Michael Holding) एक इंटरव्यू के दौरान नस्लवाद के मुद्दे पर बात करते हुए भावुक हो गए। इंग्लैंड-वेस्टइंडीज टेस्ट सीरीज के दौरान स्काई न्यूज के रिपोर्टर मार्क ऑस्टिन के साथ बातचीत के दौरान होल्डिंग अपने आंसुओं को रोक नहीं पाए। Also Read - हार्दिक पांड्या ने पोस्ट की बेटे की Cute तस्वीर; कहा- 'ईश्वर का आशीर्वाद'

बुधवार को, मैच के पहले दिन होल्डिंग ने कहा था कि नस्लवाद को खत्म करने के लिए समाज में बदलाव लाना जरूरी है, जिसके लिए शिक्षा सबसे अचूक रास्ता है। Also Read - 'दस खिलाड़ियों के कोरोना पॉजिटिव होने पर इंग्लैंड दौरे पर जाने का फैसला लेना मुश्किल था'

गुरुवार को इंटरव्यू के दौरान भी होल्डिंग इसी मुद्दे पर बात कर रहे थे लेकिन जब अचानक अपने माता-पिता को याद कर ये पूर्व गेंदबाज काफी भावुक हो गया। Also Read - 'बीएलएम' मूवमेंट पर बोले कुमार संगकारा: रातों रात नहीं होगा बदलाव

होल्डिंग ने कहा, “ईमानदारी से कहूं तो जब मैं अपने माता-पिता के बारे में सोचना शुरू करता हूं तो भावुक हो जाता हूं। और अभी फिर से ऐसा हो रहा है।”

पूर्व क्रिकेटर ने कहा, “मार्क, मुझे पता है कि मेरे माता-पिता किन हालातों से गुजरे थे। मेरे मां के परिवार ने उनसे बात करना बंद कर दिया था क्योंकि उनका पति अश्वेत था। मुझे पता है कि उन्होंने क्या झेला और वो सब मुझे याद आ गया।”

अपने आंसू पोंछते हुए होल्डिंग ने आगे कहा, “ये बेहद धीमी प्रक्रिया होगा लेकिन मुझे उम्मीद है (कि बदलाव होगा)। भले ही छोटे-छोटे कदम बढ़ाए जाएं, भले ही हम कछुए की गति से चलें लेकिन मुझे उम्मीद है कि हम सही दिशा में आगे बढ़ते रहेंगे। चाहे धीमी गति से ही सही, मुझे इससे फर्क नहीं पड़ता।”