मार्च 2020 के बाद पहली बार मैदान पर उतरी ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम इंग्लैंड के खिलाफ खेले गए पहले टी20 मैच में 2 रन से करीबी अंतर से हार गई। आखिरी गेंद तक रोमांचक रहे इस मुकाबले में इंग्लिश गेंदबाजों- आदिल राशिद (Adil Rashid) और जोफ्रा आर्चर (Jofra Archer) ने अहम भूमिका निभाई। जबकि मेहमान टीम कप्तान एरोन फिंच (Aaron Finch) और डेविड वार्नर (David Warner) की दिलाई शानदार शुरुआत का फायदा नहीं उठा सकी।Also Read - Ashes 2021-22: पश्चिमी ऑस्ट्रेलिया में फिर सख्त कोरोना प्रोटोकॉल, एशेज का 5वां टेस्ट मुश्किल

द रोज बाउल, साउथम्पटन में खेले गए मैच में टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी इंग्लैंड टीम को विकेटकीपर बल्लेबाज जॉस बटलर ने बेहतरीन शुरुआत दी। बटलर ने 29 गेंदो पर 5 चौकों और 2 छक्कों की मदद से 44 रनों की पारी खेली। हालांकि बटलर को सलामी बल्लेबाज जॉनी बेयरस्टो का साथ नहीं मिला, जो मात्र 8 रन बनाकर पैट कमिंस का शिकार बने। Also Read - राजस्थान रॉयल्स के लिए अच्छा निवेश हो सकते हैं युवा यशस्वी जायसवाल: इरफान पठान

बेयरस्टो के आउट होने के बाद क्रीज पर आए डेविड मलान ने एक छोर पर टिके रहकर शानदार पारी खेली। आठवें ओवर में स्पिनर एश्टन एगर ने बटलर को आउट कर ऑस्ट्रेलिया को बड़ी सफलता दिलाई लेकिन मलान दूसरे छोर पर डटे रहे। स्पिन की मददगार पिच पर इंग्लैंड ने लगातार विकेट खोए। Also Read - Ashes 2021: Pat Cummins का खुलासा, कप्तानी संभालने के लिए क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने दबाव डाला

ऑलराउंडर ग्लेन मैक्सवेल ने बीच के ओवरों में ऑस्ट्रेलिया को कप्तान इयोन मोर्गन (5) और मोइन अली (2) के अहम विकेट दिलाए। दोनों ही बल्लेबाज क्रीज पर आते ही बड़े शॉट लगाने की कोशिश में सस्ते में आउट हुए।

वहीं दूसरी ओर मलान ने 43 गेंदो पर 5 चौकों और 3 छक्कों की मदद से 66 रनों की पारी खेलकर इंग्लैंड को 162/7 के स्कोर तक पहुंचाया। ऑस्ट्रेलिया की ओर से एगर, केन रिचर्डसन और मैक्सवेल ने 2-2 विकेट लिए।

163 रन के लक्ष्य का पीछा करने उतरी कंगारू टीम की शुरुआत शानदार थी। फिंच-वार्नर की जोड़ी ने मिलकर 11 ओवरों में 98 रन की साझेदारी बनाई। 11वें ओवर की आखिरी गेंद पर बड़ा शॉट लगाने की कोशिश में फिंच (46) कैच आउट होकर अर्धशतक पूरा करने से चूक गए।

पहला विकेट गिरने के बाद वार्नर का साथ देने के लिए स्टीव स्मिथ क्रीज पर आए। स्मिथ ने आते ही 12वें ओवर में मार्क वुड के खिलाफ लगातार दो चौके लगाकर पारी की शुरुआत की। इसी ओवर में वार्नर ने अपना अर्धशतक भी पूरा किया।

14 ओवर तक ऑस्ट्रेलिया टीम पूरी तरह खेल में थी। स्मिथ-वार्नर की जोड़ी ने मिलकर ऑस्ट्रेलिया को 124 के स्कोर तक पहुंचा दिया था और इंग्लैंड टीम को दूसरी सफलता नहीं मिली थी। लेकिन 15वें ओवर में अपना स्पेल खत्म करने आए राशिद ने पहली गेंद पर स्मिथ (18) को आउट किया और फिर आखिरी गेंद पर ‘बिग शो’ मैक्सवेल को मात्र एक रन पर आउट तक ऑस्ट्रेलिया को मुश्किल में डाल दिया। मैक्सवेल कवर्स के ऊपर से शॉट खेलने की कोशिश में मोर्गन को एक आसान सा कैच थमा बैठे।

स्मिथ और मैक्सवेल के आउट होने के बावजूद ऑस्ट्रेलिया टीम की जीत की उम्मीद बनी हुई थी क्योंकि अर्धशतक बना चुके वार्नर क्रीज पर थे लेकिन इस उम्मीद को आर्चर ने अगले ही ओवर में तोड़ दिया। 16वें ओवर की दूसरी गेंद पर वार्नर आर्चर की शानदार यॉर्कर पर बोल्ड होकर पवेलियन लौटे। जिसके बाद जीत का दारोमदार ऑलराउंडर मार्कस स्टोइनिस और विकेटकीपर बल्लेबाज एलेक्स कैरी पर आ गया। हालांकि कैरी भी अगले ओवर में वुड की अंदर आती हुई गेंद पर बोल्ड होकर पवेलियन लौटे।

स्टोइनिस ने एक-दो रन लेकर पारी को आगे बढ़ाया लेकिन जीत के लिए ऑस्ट्रेलिया को बड़े शॉट्स की जरूरत थी। छह महीनों के बाद मैदान पर उतरे स्टोइनिस के लिए गेंद को हिट कर पाना मुश्किल हो रहा था।

18 ओवर के बाद ऑस्ट्रेलिया को जीत के लिए 19 रनों की जरूरत थी, जो देखने में खास मुश्किल लक्ष्य नहीं लग रहा था लेकिन इंग्लिश गेंदबाजों टॉम कर्रन और क्रिस जॉर्डन ने डेथ ओवर में बेहतरीन गेंदबाजी की और स्टोइनिस के एक छक्का लगाने के बावजूद ऑस्ट्रेलिया 2 रन से मैच हार गई।

इंग्लैंड के लिए आर्चर और राशिद ने 2-2 विकेट लिए, जबकि वुड के हाथों एक सफलता लगी। मैन ऑफ द मैच का खिताब अर्धशतकीय पारी खेलने वाले मलान को मिला।