मैनचेस्‍टर टेस्‍ट (Manchester Test) के तीसरे दिन मेजबान इंग्‍लैंड ने मैच पर पूरी तरह से शिकंजा कस लिया है. 226/2  पर पारी घोषित करने के बाद इंग्‍लैंड ने वेस्‍टइंडीज को जीत के लिए 399 रन का लक्ष्‍य देते हुए बल्‍लेबाजी के लिए बुलाया. दिन का खेल खत्‍म होने तक मेहमान टीम ने महज 10 रन पर ही अपने दो विकेट गंवा दिए है. Also Read - WATCH: अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 6 गेंदो पर 6 छक्के लगाने वाले दुनिया के तीसरे बल्लेबाज बने कीरोन पोलार्ड

स्‍टुअर्ट ब्रॉड ने पहली पारी के दौरान छह विकेट अपने नाम किए थे. दूसरी पारी के दौरान भी दोनों बल्‍लेबाजों के विकेट ब्रॉड ने ही चटकाए. Also Read - WATCH: बेन स्टोक्स के ड्रॉप कैच को लेकर सोशल मीडिया पर बवाल, फैंस ने की आलोचना

पहली पारी में वेस्टइंडीज को 197 रन पर आउट करके इंग्‍लैंड ने 172 रन की बढ़त हासिल की थी. मैच के चौथे और पांचवें दिन बारिश की भविष्यवाणी को देखते हुए इंग्लैंड ने अपनी दूसरी पारी दो विकेट पर 226 रन बनाकर समाप्त घोषित की. Also Read - India vs England: कप्तान रूट ने माना- पिंक बॉल टेस्ट के लिए अब तक स्पष्ट नहीं है इंग्लैंड का गेंदबाजी कॉम्बिनेशन

दूसरी पारी में रोरी बर्न्स (90) और डॉम सिबले (56) ने पहले विकेट के लिये 114 रन जोड़कर इंग्लैंड को अच्छी शुरुआत दिलायी. इसके बाद कप्तान जो रूट ने 56 गेंदों पर नाबाद 68 रन की तूफानी पारी खेली. उन्होंने बर्न्स के साथ दूसरे विकेट के लिये 112 रन की साझेदारी की.

बर्न्स को स्पिनर रोस्टन चेस ने सबस्टि्यूट विकेटकीपर जोशुआ डा सिल्वा के हाथों कैच कराया जिसके तुरंत बाद रूट ने पारी समाप्त घोषित कर दी. इससे पहले जैसन होल्डर ने सिबले को आउट करके कप्तान के रूप में अपना 100वां विकेट हासिल किया था.

वेस्टइंडीज के विकेटकीपर शेन डोरिच तेज गेंदबाज शैनोन गैब्रियल की गेंद रोकने के प्रयास में चोटिल हो गये. उसकी दूसरी पारी की शुरुआत अच्छी नहीं रही और ब्रॉड ने अपने पहले ओवर में ही जॉन कैंपबेल (शून्य) को स्लिप में कैच करा दिया. इसके बाद उन्होंने रात्रि प्रहरी केमार रोच (चार) को भी चलता किया. स्टंप उखड़ने के समय क्रेग ब्रैथवेट दो और शाई होप चार रन पर खेल रहे थे.

इससे पहले वेस्टइंडीज ने अपनी पहली पारी छह विकेट पर 137 रन से अपनी पारी आगे बढ़ायी. होल्डर (46) और डोरिच (37) ने फालोऑन बचाने का पहला लक्ष्य हासिल किया. इंग्लैंड ने जोफ्रा आर्चर और क्रिस वोक्स के साथ शुरुआत की थी.

लेकिन जब ब्रॉड और जेम्स एंडरसन आक्रमण पर आये तो परिदृष्य बदल गया. ब्रॉड ने दिन की अपनी तीसरी गेंद पर ही होल्डर को पगबाधा आउट कर दिया. कैरेबियाई कप्तान ने डीआरएस का सहारा लिया लेकिन मैदानी अंपायर का फैसला कायम रहा. इसके बाद उन्होंने अपने तीसरे ओवर में रखिम कोर्नवॉल (10) और रोच (शून्य) को पवेलियन भेजा.

ब्रॉड ने डोरिच को वोक्स के हाथों कैच कराकर अपना छठा विकेट लिया और वेस्टइंडीज की पारी का अंत किया. ब्रॉड को साउथम्पटन में पहले टेस्ट की टीम में नहीं रखा गया था जिसे वेस्टइंडीज ने चार विकेट से जीता था. उन्होंने ओल्ड ट्रैफर्ड में ही दूसरे टेस्ट के दौरान दोनों पारियों में तीन . तीन विकेट लेकर इंग्लैंड की जीत में अहम भूमिका निभायी थी.

यही नहीं वर्तमान टेस्ट की पहली पारी में उन्होंने 45 गेंदों पर 62 रन की पारी खेली जो 2013 के बाद उनका सर्वोच्च स्कोर है और फिर अपने करियर में 18वीं बार पारी में पांच या इससे अधिक विकेट लिये.