नई दिल्ली. बारबाडोस में खेले पहले टेस्ट में इंग्लैंड की टीम ने जीत का दम भरते हुए कदम रखा. लेकिन, मुकाबला शुरू होते ही उनकी बत्ती गुल होने लगी और टेस्ट मैच के चौथे दिन तक आते-आते इंग्लिश टीम ने दम भी तोड़ दिया. नतीजा, ये हुआ कि वेस्टइंडीज की टीम ने 381 रन की बड़ी जीत दर्ज करते हुए सीरीज में 1-0 की बढ़त बना ली. इस मुकाबले में जीत का दम भरने वाली टीम अपने 20 बल्लेबाज उतारने के बाद भी वेस्टइंडीज की पूरी टीम तो छोड़िए उनके 2 बल्लेबाजों के बनाए स्कोर से पार नहीं पा सकी. अब आप सोच रहे होंगे कि ये 2 और 20 का चक्कर क्या है.

इंग्लैंड ने 20 विकेट खोकर बनाए 323 रन

दरअसल, हमारा कहने का मतलब ये है कि इंग्लैंड के 20 बल्लेबाज यानी कि उसने अपनी दोनों पारियों को मिलाकर इतने रन नहीं बनाए जितने वेस्टइंडीज के सिर्फ 2 बल्लेबाजों ने बनाए. इंग्लैंड की पहली पारी केवल 77 रन पर सिमट गई. जबकि दूसरी पारी में उन्होंने 246 रन बनाए. इन दोनों पारियों का कुल टोटल 323 रन होता है. यानी, 20 विकेट खोकर इंग्लैंड ने बारबाडोस टेस्ट में सिर्फ 323 रन ही बनाए.

इंग्लैंड को हराकर वेस्टइंडीज ने जीता प्रधानमंत्री का दिल, मैदान पर हुआ ‘हंगामा’

वेस्टइंडीज के 2 बल्लेबाजों ने बनाए 323

बारबाडोस की पिच पर इंग्लैंड ने जितने रन अपनी दोनों पारियों को मिलाकर बनाए, उतने रन वेस्टइंडीज ने सिर्फ 2 विकेट खोकर बनाए. इंग्लैंड के 20 बल्लेबाजों जितने रन बनाने वाले वेस्टइंडीज के 2 बल्लेबाज रहे जेसन होल्डर और शेन डाउरिच. होल्डर ने पहली पारी में 5 रन बनाए जबकि डाउरिच ने खाता भी नहीं खोला. लेकिन दूसरी पारी में जहां होल्डर ने 202 रन की नाबाद पारी खेली वहीं डाउरिच 116 रन बनाकर नॉट आउट रहे. अब इन दोनों बल्लेबाजो का दोनों पारियों को मिलाकर कुल स्कोर उतना ही होता है जितने इंग्लैंड की पूरी टीम ने अपनी दोनों पारियों को मिलाकर बनाए यानी 323 रन.

इंग्लैंड को धूल चटाकर वेस्टइंडीज बोला, ले लिया ‘अपमान’ का बदला

खराब फॉर्म में इंग्लैंड का टॉप ऑर्डर

साल 2018 की शुरुआत से अब तक इंग्लैंड के टॉप ऑर्डर के किसी बल्लेबाज का औसत टेस्ट में 50 का नहीं है. ये एक बड़ी वजह है कि वेस्टइंडीज के सिर्फ 2 बल्लेबाजों के बनाए रन उसकी पूरी टीम पर भारी पड़ गए. इंग्लैंड के टॉप ऑर्डर में पिछले साल से अब तक जो सबसे अच्छा बल्लेबाजी औसत रहा है वो जोस बटलर का है, जिन्होंने 41.57 की औसत से रन बनाए. इसके बाद कप्तान जो रूट हैं जिन्होंने 38.96 की औसत से रन बनाए. इन दोनों के अलावे टॉप ऑर्डर के सभी बल्लेबाजों का औसत 30 या उससे कम का है.