क्राइस्टचर्च: जिस देश की टीम को वर्ल्ड कप में हराने में अहम भूमिका निभाई, अब वही देश जीतने वाली टीम के अहम खिलाड़ी को ही अपने देश का सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी चुनने जा रहा है. न्यूजीलैंड को वर्ल्ड कप के फाइनल मैच में इंग्लैंड के हाथों हार मिली और इसमें बेन स्टोक्स ने अहम भूमिका निभाई. इंग्लैंड ने अपने इस खिलाड़ी को ‘सुपरमैन’ बताया. वहीं, इंग्लैंड ही नहीं न्यूजीलैंड भी इस खिलाड़ी का लोहा मान रहा है. इसीलिए न्यूजीलैंड में न्यूजीलैंड की टीम के कप्तान केन विलियमसन के साथ ही बेन स्टोक्स को भी ‘न्यूजीलैंडर ऑफ द ईयर’ पुरस्कार से नामांकित किया है. Also Read - New Zealand General Election: न्यूजीलैंड के आम चुनाव में प्रधानमंत्री जेसिंडा अर्डर्न की शानदार जीत, दूसरी बार संभालेंगी कार्यभार

Also Read - IPL 2020: बेन स्टोक्स के कल के मैच में खेलने को लेकर कप्तान स्टीव स्मिथ ने दिया अहम अपडेट

Also Read - IPL 2020: दुबई पहुंचे स्टार ऑलराउंडर बेन स्टोक्स; 6 दिन क्वारेंटीन के बाद राजस्थान से जुड़ेंगे

अपने ‘सुपरमैन’ को ‘सर’ की उपाधि दे सकता है इंग्लैंड, PM बोलीं- आपने क्रिकेट से प्यार को मजबूर किया

बता दें कि बेन स्टोक्स मूल रूप से न्यूजीलैंड के ही रहने वाले हैं. इंग्लैंड के सबसे हरफनमौला खिलाड़ियों में शुमार बेन स्टोक्स बचपन में अपने परिवार के साथ न्यूजीलैंड से इंग्लैंड आ गए थे. हालांकि उनके पिता बाद में वापस न्यूजीलैंड लौट गए. बेन स्टोक्स के पिता न्यूजीलैंड में रग्बी के राष्ट्रीय स्तर के खिलाड़ी रहे हैं. उन्होंने क्रिकेट को अपने करियर के रूप में चुना और इंग्लैंड की टीम के हिस्सा बन गए. जिस दिन दोनों टीमों के बीच फाइनल मैच था, उस दिन बेन स्टोक्स के पिता न्यूजीलैंड में टीवी पर मैच देखते हुए अपने देश की टीम के जीतने की दुआ कर रहे थे. जबकि उनका बेटा उसी देश की हराने में अहम भूमिका निभा रहा था.

पिता कर रहे थे न्यूजीलैंड के जीतने की दुआ, ‘सुपरमैन’ बेटे ने इंग्लैंड को जिता दिया वर्ल्ड कप

इंग्लैंड के आलराउंडर बेन स्टोक्स ने अपने शानदार प्रदर्शन से वर्ल्ड कप में हराकर न्यूजीलैंड के लोगों का दिल तोड़ दिया था, लेकिन अब उन्हें इस देश से रिश्ते के आधार पर केन विलियमसन के साथ ‘न्यूजीलैंडर ऑफ द ईयर’ पुरस्कार के लिए नामांकित किया गया है. स्टोक्स ने विश्वकप में गजब का प्रदर्शन किया, जिसमें उन्होंने इंग्लैंड के लिए 465 रन जुटाए और सात विकेट झटके. पिछले रविवार को लार्ड्स पर हुए फाइनल के दौरान उनकी 98 गेंद में खेली गयी 84 रन की पारी से इंग्लैंड की मदद की. उन्होंने सुपर ओवर में आठ रन जुटाये जिसके भी टाई होने के बाद इंग्लैंड को सबसे ज्यादा बाउंड्री लगाने के आधार पर विश्वकप विजेता बनाया गया.

गौतम गंभीर का ‘दर्द’ छलका- जैसा मेरे, सचिन और वीरू के साथ हुआ, धोनी के साथ भी वैसा ही हो

‘न्यूजीलैंडर ऑफ द ईयर’ अवार्ड्स प्रमुख कैमरन बेनेट ने कहा, ‘वह भले ही न्यूजीलैंड के लिये नहीं खेल रहा हो, लेकिन वह क्राइस्टचर्च में जन्मा है, जहां उसके माता-पिता अभी रहते हैं और न्यूजीलैंड के देसी मूल (माओरी वंश) के होने के नाते कुछ कीवी लोग अब भी उस पर न्यूजीलैंड का ही अधिकार मानते हैं.’ प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट’ रहे विलियमसन को भी कई नामांकन मिले हैं. पुरस्कार की घोषणा दिसंबर में की जाएगी.