लंदन। इंग्लैंड ने भारत के खिलाफ शुक्रवार से ओवल मैदान पर खेले जाने वाले सीरीज के पांचवें और आखिरी टेस्ट मैच के लिए टीम में कोई बदलाव नहीं किया है. यह टेस्ट पूर्व कप्तान और इंग्लैंड के लिए सबसे ज्यादा रन बनाने वाले एलिस्टेयर कुक का अपने देश के लिए आखिरी मैच होगा. उन्होंने दो दिन पहले ही संन्यास लेने का ऐलान किया था. Also Read - IPL 2021, RCB vs RR Highlights: विराट-देवदत्त के सामने रॉयल्स पस्त, 10 विकेट से यूं जीता RCB

जेम्स विंस को टीम से बाहर कर दिया गया है क्योंकि जानी बेयरस्टा चोट से उबर गये हैं और विशेषज्ञ बल्लेबाज के तौर पर खेलने के लिए फिट हैं. ओलिवर पोप सरे के लिए एसेक्स के खिलाफ काउंटी मैच के पहले दो दिन के खेल के बाद राष्ट्रीय टीम के साथ गुरुवार को जुड़ेंगे. Also Read - IPL 2021, RCB vs RR: आरसीबी ने लगाया 'विजयी चौका', जानिए जीत के 5 बड़े कारण

इंग्लैंड 3-1 से आगे Also Read - IPL 2021, RCB vs RR: महेंद्र सिंह धोनी की CSK जो ना कर सकी, RCB ने वो कर दिखाया

इंग्लैंड की टीम ने पांच मैचों की सीरीज में 3-1 की विजयी बढ़त ले ली है. साउथैम्पटन टेस्ट में टीम इंडिया ने एक ऐसा मैच गंवाया जो ढाई दिन तक उसकी मुट्ठी में था. पहली पारी में 27 रनों की बढ़त लेने के बावजूद टीम इंडिया के बल्लेबाज इंग्लैंड को 277 रनों की लीड लेने से नहीं रोक सके. जीत के मिले लक्ष्य का पीछा करने उतरी टीम के बल्लेबाज बुरी तरह फ्लाप रहे. अकेले कप्तान विराट कोहली ने ही मोर्चा संभाला, लेकिन उनके आउट होते ही इंग्लैंड ने मैच पर कब्जा जमा लिया.

बल्लेबाज रहे फ्लॉप

इस मैच में जहां एक तरफ भारतीय स्पिनर आर अश्विन बुरी तरह फ्लॉप हुए वहीं इंग्लैंड के स्पिनर मोईन अली ने भारतीय बल्लेबाजों की कमर तोड़कर रख दी. उन्होंने कुल 9 विकेट लिए वहीं अश्विन को महज 3 विकेट ही मिले. इसे लेकर उनकी जबरदस्त आलोचना भी हुई. लोकेश राहुल, हार्दिक पंड्या, शिखर धवन की नाकामी ने टीम की लुटिया डुबोने में कोई कसर नहीं छोड़ी. सीरीज का पहला और दूसरा मैच भारत ने गंवाया था, लेकिन तीसरे मैच में धमाकेदार प्रदर्शन कर इंग्लैंड को पारी से हार के लिए मजबूर कर दिया. लग रहा था जैसे चौथे टेस्ट जीतकर टीम इंडिया सीरीज 2-2 से बराबर कर लेगी, लेकिन टीम शर्मनाक अंदाज में मैच गंवा बैठी.

टीम:

जो रूट (कप्तान) , एलेस्टेयर कुक, कीटोन जेनिंग्स, जानी बेयरस्टा, जोस बटलर, ओलिवर पोप, मोईन अली, आदिल राशिद, सैम कुरेन, जेम्स एंडरसन, स्टुअर्ट ब्राड, क्रिस वोक्स और बेन स्टोक्स.