केविन पीटरसन, टाइमल मिल्स और ल्यूक राइट जैसे इंग्लैंड के क्रिकेटर्स अलावा कई विदेशी क्रिकेटर भी पाकिस्तान सुपर लीग (पीएसएल) का फाइनल लाहौर में आयोजित करवाए जाने की वजह से इस मैच से किनारा कर चुके हैं। इन सबने सुरक्षा कारणों का हवाला देते हुए लाहौर में पीएसएल के फाइनल में खेलने से इनकार किया है।

इस फाइनल में खेलने से इनकार करने वाले इंग्लैंड के बल्लेबाज ल्यूक राइट ने ट्वीट करके कहा था कि वह भारी मन से कह रहे हैं कि वह लाहौर में खेलने नहीं जा रहे हैं। ल्यूक ने लिखा था कि उनका परिवार है और उनके लिए क्रिकेट के मैच के लिए इतना खतरा उठाना सही फैसला नहीं है।

हालांकि पाकिस्तानी फैंस को विदेशी क्रिकेटरों की ये बात पसंद नहीं आई और एक पाकिस्तानी ने सोशल मीडिया पर ल्यूक राइट के इस ट्वीट के जवाब में अपशब्द का प्रयोग करते हुए लिखा कि ‘लाखों लोग शहर (लाहौर) में रहते हैं और हम सबका परिवार भी है और हम बहुत ही शांतिप्रिय देश हैं।’ यह भी पढ़ें: पाकिस्तान को झटका, PSL के फाइनल से हटे कई स्टार क्रिकेटर

लेकिन इस पाकिस्तानी द्वारा अपने खिलाफ किए गए अपशब्द के प्रयोग पर ल्यूक राइट ने ट्विटर पर उसे करारा जवाब दिया और लिखा, आपने जिस तरह की भाषा का प्रयोग किया उससे मुझे नहीं लगता कि आप बहुत शांतिप्रिय हैं।’

2009 में लाहौर में पाकिस्तान के दौरे पर गई श्रीलंकाई क्रिकेट टीम की बस पर हुए आतंकी हमले के बाद से पाकिस्तान में कोई भी अंतर्राष्ट्रीय मैच आयोजित नहीं हुआ है। इसलिए पीएसएल का फाइनल लाहौर में आयोजित करके पाकिस्तान अंतर्राष्ट्रीय समुदाय को दिखाना चाहता है कि वहां क्रिकेट का आयोजन सुरक्षित है। लेकिन विदेशी क्रिकेटरों के लाहौर में खेलने से इनकार के बाद उसकी कोशिशों को झटका लगा है।