नई दिल्ली. क्रिकेट की दुनिया में मंगलवार का दिन रन और रिकॉर्ड से भरा था. आलम ऐसा था कि रन बरस रहे थे और बड़े बड़े रिकॉर्ड दरक रहे थे. कमाल की बात ये है कि ये सबकुछ उसी देश की सरजमीं पर हो रहा था जो इस खेल का जनक है यानी कि इंग्लैंड. नॉटिंघम में इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेले गए 5 वनडे मैचों की सीरीज के तीसरे मैच में धमाकेदार बल्लेबाजी की नुमाईश देखने को मिली. मेजबान टीम ने ऑस्ट्रेलिया की मेहमानवाजी में ऐसा तूफान मचाया कि उसमें उसके अपने रिकॉर्ड तो टूटे ही साथ ही कुछ देर पहले बना एक भारतीय रिकॉर्ड भी स्वाहा हो गया.

कुछ घंटों में टूटा भारतीय रिकॉर्ड

अब आप सोच रहे होंगे कि टीम इंडिया ने तो खेला नहीं तो फिर क्रिकेट में ये रिकॉर्ड कुछ देर पहले बना कहां से. तो आपको बता दें कि हम यहां लिस्ट ए क्रिकेट में बने रिकॉर्ड की बात कर रहे हैं. इंडिया ए की टीम इस वक्त इंग्लैंड दौरे पर है. नॉटिंघम में इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मुकाबले से पहले लिसेस्टर में लिस्ट ए का एक मुकाबला इंडिया ए और लिस्टेशायर के बीच खेला गया. इस मुकाबले में इंडिया ए टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए पृथ्वी शॉ और मयंक अग्रवाल की धमाकेदार बल्लेबाजी के दम पर 50 ओवर में 458 रन बनाए, जो कि लिस्ट ए क्रिकेट में सबसे बड़े स्कोर का भारतीय रिकॉर्ड तो था ही वर्ल्ड रिकॉर्ड की फेहरिस्त में भी इंग्लैंड के तूफान मचाने से पहले तक नंबर दो पर था.

इंग्लैंड के तूफान में भारतीय रिकॉर्ड स्वाहा

लेकिन, जैसे ही नॉटिंघम ने इंग्लैंड ने ऑस्ट्रेलिया का बैंड बजाना शुरू किया इंडिया ए टीम के बनाए 458 रन के स्कोर पर भी ग्रहण लगना शुरू हो गया. और, जब तक इंग्लैंड की पारी खत्म हुई तब तक भारतीय क्रिकेट भी ढेर हो चुका था. इंग्लैंड ने अपने 481 रन के करिश्मे की बदौलत कुछ देर पहले बने भारत ए टीम के 458 रन की पारी के रिकॉर्ड को तोड़ डाला था.

इंग्लैंड ने बनाया वनडे का सबसे बड़ा स्कोर,ऑस्ट्रेलिया की सबसे बड़ी हार

इंग्लैंड ने बनाया वनडे का सबसे बड़ा स्कोर,ऑस्ट्रेलिया की सबसे बड़ी हार

लिस्ट ए में 496 रन सबसे बड़ा स्कोर

बता दें कि लिस्ट ए क्रिकेट में अंतर्राष्ट्रीय वनडे मुकाबलों के अलावा वो सभी घरेलू मुकाबले शामिल होते हैं जिनमें ओवर्स की संख्या 40 से 60 के बीच होती है. इंग्लैंड ने बेशक 481 रन बनाकर अंतर्राष्ट्रीय वनडे का सबसे बड़ा स्कोर बनाया लेकिन लिस्ट ए क्रिकेट में सबसे बड़े स्कोर की फेहरिस्त में उसका ये स्कोर दूसरे नंबर पर है. वहीं पहले नंबर पर 11 साल पहने बनाया सरे का 496 रन का स्कोर है. साल 2007 में सरे ने ग्लूस्टोशायर के खिलाफ ओवल के मैदान पर इस कीर्तिमान को बनाया था.