नई दिल्लीः एशेज सीरीज के पहले मैच में में कमजोर दिख रही इंग्लैंड ने बाकी के मैचों में शानदार खेल दिखाया और दो मैच जीतकर सीरीज को ड्रा कराने में सफलता पाई. एशेज में इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेला गया पांचवां मैच इंग्लैंड के कोच के तौर पर ट्रेवर बेलिस का आखिरी मैच था. कप्तान जो रूट और टीम ने कोच को विदाई में जीत का तोहफा देने पर खुशी जाहिर की.

धोनी के करियर को तराशने वाले इस पूर्व कप्तान ने कहा – माही पर जल्द फैसला लें कोहली और चयनकर्ता

एशेज के अंतिम मैच के बाद ड्रेसिंग रूम में कोच बेलिस ने सभी खिलाड़ियो से बात भी की. उन्होंने कहा कि आप लोगों मुझे जो प्यार और सम्मान दिया है मैं उसे कभी नहीं भूल पाऊंगा. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि मैं जीवन भर आप लोगों से दोस्ती रखना चाहूंगा. ट्रेवर बेलिस की ही कोचिंग में इंग्लैंड पहली बार विश्व कप विजेता बना. उसने 2019 के विश्व कप फाइनल में न्यूजीलैंड को हराया था.

World Cup 2019: गजब है क्रिकेट का क्रेज, India Vs Pakistan मैच को 32 करोड़ से अधिक लोगों ने देखा था

कप्तान रूट ने कहा कि हम सबका ही यह प्रयास था कि हम अपने कोच को विजयी विदाई दें. उन्होंने कहा कि ट्रेवर ने हमारी टेस्ट टीम को मजबूत बनाने में काफी महत्वपूर्ण योगदान दिया है और ड्रेसिंग रूम में उनका बहुत महत्व है. रूट ने कहा कि ऐसे कोच बहुत कम ही देखने को मिलते हैं जिन्हें टीम का लगभग हर एक खिलाड़ी पसंद करे. आपको बता दें कि ट्रेवर बेलिस अब आईपीएल की टीम सनराइजर्स हैदराबाद की कोचिंग करते हुए दिखेंगे.

रवि शास्त्री ने ऋषभ पंत को दी वार्निंग, कहा- खामियाजा भुगतने के लिए तैयार रहो..

टीम ने कहा कि इंग्लैंड क्रिकट ट्रेवर का हमेशा ही एहसानमंद रहेगा. अपने कोच को विदाई देते हुए खिलाड़ियों ने कहा कि उनकी कोचिंग में टीम ने ऐसे मुकाम हासिल किए हैं जिनकी कहानियां विश्व क्रिकेट में हमेशा सुनाई जाएंगी.