नई दिल्ली. एक नया मैदान, फ्रेश मैच और इंग्लैंड की निगाह सीरीज में कमबैक पर. लेकिन, क्या ये उसके लिए मुमकिन है. दरअसल, जिस तरह से मैनचेस्टर में भारतीय फिरकीबाज कुलदीप यादव ने उनकी नाक में दम किया, वो अब भी उससे उबर नहीं सके हैं. मैनचेस्टर में मैच हारने के बाद जिस ईमानदारी के साथ इंग्लिश कप्तान ईयॉन मॉर्गन ने कुलदीप यादव से डरने की बात स्वीकारी वो अपने आप में ही पूरी कहानी बयां करती है. वहीं आज कार्डिफ में खेले जाने वाले दूसरे T20 से पहले इंग्लैंड टीम के सदस्य क्रिस जॉर्डन ने जो कहा उससे भी इंग्लैंड के बल्लेबाजों के अंदर बैठे कुलदीप यादव के डर को बयां करती है. जॉर्डन ने कहा, “कुलदीप वर्ल्ड क्लास स्पिनर है. एक अलग तरह का स्पिनर है. उसकी गेंद को समझना हमारे लिए काफी मुश्किल होता है.” हालांकि, अब खबर मिली है कि इंग्लैंड कुलदीप के डर से पार पाने या यूं कहें कि खतरे से निपटने के लिए मशीन का सहारा ले रहा है.

धोनी-विराट ने कसी कमर, कार्डिफ में जमकर लेंगे इंग्लैंड की खबर!

‘मशीन’ से जीत खोज रहा इंग्लैंड

कार्डिफ T20 से पहले अपने प्रैक्टिस सेशन में इंग्लैंड के अधिकांश बल्लेबाज स्पिन गेंदबाजी कराने वाली मशीन का प्रयोग करते दिखे. इस स्पिन गेंदबाजी मशीन का नाम मर्लिन है. इंग्लैंड ने इसका इस्तेमाल पहली बार साल 2005 में एशेज सीरीज के दौरान शेन वॉर्न की फिरकी से निपटने के लिए किया था. यानी, स्पिन से निपटने की मर्लिन तकनीक करीब 13 साल पुरानी तो है ही. अब इंग्लैंड को लग रहा है कि इसके इस्तेमाल से उन्हें कुलदीप यादव की कलाई को भी समझने में मदद मिलेगी.

‘मर्लिन’ से मिलेगा कुलदीप का तोड़

कुलदीप का तोड़ बताने वाली मर्लिन की विशेषताओं का बखान करते हुए इंग्लैंड के गेंदबाज जॉर्डन ने कहा,” मर्लिन अच्छा इजाफा है , विशेषकर तब जब आपके पास बायें हाथ की स्पिन चाइनामैन को दोहराने के लिए कोई नहीं हो. यह असल में अति ट्रेनिंग है क्योंकि मर्लिन बेशक अधिक स्पिन और उछाल लेती है. लेकिन अगर आप मर्लिन के साथ सेशन बिताएं तो आप काफी अच्छी स्थिति में होते हैं.”

धोनी से विराट-अनुष्का का वादा, सीरीज जीत के धमाके से होगा बर्थडे का हंगामा!

इंग्लैंड को सता रहा कुलदीप का ‘डर’

टीम इंडिया की नजर कार्डिफ T20 जीतकर सीरीज जीतने पर होगी. वहीं इंग्लैंड उन्हें रोकने की कोशिश करेगा. लेकिन इसके लिए उन्हें कुलदीप का मुकाबला करना होगा. जॉर्डन ने कहा ,” हां , हमें पता है कि हमें कुलदीप और उनके दूसरे स्पिनरों के खिलाफ कुछ अधिक समझदारी से बल्लेबाजी करनी होगी. वे उनका इस्तेमाल समझदारी और रणनीतिक रूप से करना चाहेंगे. लेकिन हमारे ड्रेसिंग रूम में अनुभवी खिलाड़ी भी हैं, कुछ स्पिन के काफी अच्छे खिलाड़ी भी हैं. 2015 से स्पिन के खिलाफ हमारा रिकार्ड बेहतर है और हम सर्वश्रेष्ठ टीमों में से एक हैं.”

‘अभी तो पार्टी शुरू हुई है’

बता दें कि कुलदीप यादव ने इंग्लैंड के खिलाफ सीरीज के पहले T20 मैच में अपने करियर के बेस्ट प्रदर्शन करते हुए 24 रन देकर 5 विकेट लिए. इसके बाद कुलदीप ने आगे भी इस दमदार प्रदर्शन को बरकरार रखने की हुंकार भरकर इंग्लैंड को सकते में डाला, जिस वजह से उन्हें मशीन का सहारा लेना पड़ा.