चेम्सफोर्ड। इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज से पहले पिच और आउटफील्ड की खराब स्थिति से नाराज भारत ने एसेक्स काउंटी टीम के खिलाफ चार दिवसीय अभ्यास मैच को आज तीन दिन का कर दिया. एसेक्स काउंटी के प्रतिनिधि ने हालांकि कहा कि भारतीय टीम अभ्यास सत्र में मिली सुविधाओं से खुश है.

खराब आउटफील्ड

जब उनसे पूछा गया कि क्या खराब आउटफील्ड के कारण मैच को तीन दिनों का किया गया है तो उन्होंने कोई प्रतिक्रिया देने से मना कर दिया. काउंटी ने बयान जारी कर कहा कि एसेक्स क्रिकेट और इंग्लैंड एवं वेल्स क्रिकेट बोर्ड बीसीसीआई प्रबंधन दल के अनुरोध पर राजी हो गया कि एसेक्स और भारत के बीच अभ्यास मैच अब तीन दिनों का होगा.

ICC टेस्ट रैंकिंग: बैन के बावजूद बल्लेबाजी में टॉप पर स्मिथ, टीम इंडिया नंबर वन

भारतीय टीम ने यह फैसला आज दोपहर अभ्यास सत्र के बाद पिच की स्थिति को देखकर किया. मैच को कम अवधि का करने पर हालांकि कोई आधिकारिक जानकारी नहीं दी गई है. पिच पर जरूरत से ज्यादा घास और आइटफील्ड में घास की कमी के मुद्दे पर भारतीय कोच रवि शास्त्री को स्थानीय अधिकारियों से बातचीत करते देखा गया.

चोटिल हो सकते हैं खिलाड़ी

आउटफील्ड में घास की कमी से खिलाड़ी चोटिल हो सकते है. इंग्लैंड में अभी गर्मी का मौसम है और टेस्ट सीरीज के दौरान में ऐसी घास वाली पिच मिलने की संभावना काफी कम है.

सहायक कोच संजय बांगड़ और गेंदबाजी कोच भरत अरूण जैसे टीम के सहयोगी स्टाफ को भी मैदान के हालात का जायजा लेने के बाद मैदानकर्मियों से बात करते देखा गया. इस मैच को प्रथम श्रेणी मैच का दर्जा प्राप्त नहीं है और ऐसे में यह तय है कि भारतीय टीम सभी 18 खिलाड़ियों को आजमाएगी.

टीम इंडिया-एसेक्स के बीच मुकाबला, प्लेइंग इलेवन में इन खिलाड़ियों को मिलेगी जगह

अभ्यास सत्र के बाद वरिष्ठ मैदानकर्मी ने गोपनीयता की शर्त पर पीटीआई से कहा, भारतीय टीम प्रबंधन की सभी मांगों को मान लिया गया है. जब उनसे पूछा गया कि क्या जिन मांगों को माना गया है उसमें पिच से घास हटाना भी शामिल है तो उन्होंने कहा कि भारतीय टीम प्रबंधन की मांगों को मानने के लिए हमने जरूरत से ज्यादा समझौता किया है. यह निराशाजनक है क्योंकि हमने चौथे दिन (शनिवार) के टिकट भी बेचे हैं.