नई दिल्ली : इंग्लैंड ने अपने बल्लेबाजों के संयुक्त प्रदर्शन के दम पर गुरुवार को आईसीसी विश्व कप के पहले मैच में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 312 रनों की चुनौती रखी है. इंग्लैंड के लिए चार बल्लेबाजों ने अर्धशतक जमाए जिनमें बेन स्टोक्स ने सर्वाधिक 89 रन बनाए. उनके अलावा कप्तान इयान मोर्गन ने 57, जेसन रॉय ने 54 और जो रूट ने 51 रन बनाकर टीम को निर्धारित 50 ओवरों में आठ विकेट के नुकसान पर 311 रनों के मजबूत स्कोर तक पहुंचाया.

दक्षिण अफ्रीका ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी का फैसला किया. कप्तान फाफ डु प्लेसिस ने इंग्लैंड के बल्लेबाजों की स्पिन के खिलाफ कमजोरी का फायदा उठाने के लिए इमरान ताहिर को पहला ओवर सौंपा. ताहिर ने दूसरी ही गेंद पर जॉनी बेयरस्टो को बोल्ड कर कप्तान को राहत दिलाई.

वर्ल्ड कप में पहला ओवर फेंकने वाले पहले स्पिनर बने इमरान ताहिर

यहां से हालांकि रूट और रॉय ने दक्षिण अफ्रीका के गेंदबाजों को अच्छे से खेला. दूसरे विकेट के लिए दक्षिण अफ्रीका को 19वें ओवर का इंतजार करना पड़ा. रूट और रॉय ने टीम को 100 के पार पहुंचा दिया था और अच्छी लय में आगे बढ़ रहे थे. 19वें ओवर की चौथी गेंद पर कागिसो रबाडा ने रूट को पवेलियन भेजा. रूट ने 59 गेंदों का सामना कर नौ चौके लगाए.

अगले ओवर की पहली ही गेंद पर आंदिले फेहलुक्वायो ने रॉय का विकेट लेकर इंग्लैंड को परेशानी में डाल दिया. जेसन और रूट ने दूसरे विकेट के लिए 106 रनों की साझेदारी की.

यहां से कप्तान मोर्गन और स्टोक्स एक बार फिर टीम को रास्ते पर लाए. इन दोनों ने चौथे विकेट के लिए 106 रनों की साझेदारी निभाई. यहां एक बार फिर ताहिर अपनी टीम को सफलता दिलाने में कामयाब रहे लेकिन इसमें एडिन मार्करम को भी श्रेय जाता है जिन्होंने मोर्गन का सीमारेखा के पास बेहतरीन कैच पकड़ा. लुंगी एन्गिडी ने जोस बटलर (18) को बोल्ड कर इंग्लैंड को एक और बड़ा झटका दिया. एन्गिडी ने ही मोइन अली (3) को पवेलियन भेजा.

ENGvsSA: मोर्गन के नाम दर्ज हुए दो खास रिकॉर्ड, ऐसा करने वाले इंग्लैंड के पहले खिलाड़ी

इंग्लैंड का स्कोर छह विकेट के नुकसान पर 260 रन था, लेकिन उसके लिए अच्छी बात यह थी कि स्टोक्स मैदान पर थे. स्टोक्स ने एक छोर संभाले रखते हुए इंग्लैंड की 300 पार की उम्मीदों को जिंदा रखा. वह 300 के ही कुल स्कोर पर 49वें ओवर की आखिरी गेंद पर एन्गिडी की धीमी गेंद पर फंस कर आउट हो गए. स्टोक्स ने 79 गेंदें खेलीं जिनमें से नौ पर चौके मारे. लियाम प्लंकेट (नाबाद 9) और जोफ्रा आर्चर (नाबाद 7) ने मिलकर आखिरी ओवर में 11 रन बनाए. दक्षिण अफ्रीका के लिए एन्गिडी ने तीन, ताहिर और राबादा ने दो-दो और फेहुलक्वायो ने एक विकेट लिया.