मेजबान इंग्लैंड और वेस्टइंडीज के बीच 8 जुलाई से तीन मैचों की टेस्ट सीरीज खेली जाएगी. दोनों टीमें इस समय -अलग तैयारी कर रही हैं. मैच बिना दर्शकों का खेला जाएगा. टेस्ट सीरीज में वेस्टइंडीज के क्रिकेटर खेलों में नस्लवाद के विरोधस्वरूप ‘ब्लैक लाइव्स मैटर’ का लोगो अपनी जर्सी के कॉलर पर पहनेंगे. Also Read - Covid-19: रूस को पीछे छोड़ दुनिया में कोरोना से तीसरा सबसे ज्यादा प्रभावित देश बना भारत

अमेरिकी अश्वेत जॉर्ज फ्लॉयड की मौत के बाद इस मसले पर खुलकर बोलने वाले कप्तान जेसन होल्डर ने एक बार फिर एक बयान में कहा ,‘हमारा मानना है कि एकजुटत दिखाना और जागरूकता पैदा करने में मदद करना हमारा फर्ज है .’ Also Read - योगी सरकार ने दी यूपी में बड़े आयोजनों की अनुमति, कोविड प्रोटोकॉल का करना होगा पालन

आईसीसी से स्वीकृत लोगो को एलिशा होसाना ने डिजाइन किया है . इस महीने की शुरूआत में प्रीमियर लीग में सभी 20 क्लबों के खिलाड़ियों ने अपनी शर्ट पर यह लोगो पहना था . Also Read - दिल्ली सरकार का बड़ा फैसला-जारी रहेगी बिजली-पानी पर सब्सिडी

‘हम यहां ट्रॉफी जीतने आए हैं’

होल्डर के हवाले से ईएसपीएन क्रिकइन्फो ने कहा ,‘यह खेलों के इतिहास में और वेस्टइंडीज क्रिकेट टीम के लिये अहम क्षण है .’ उन्होंने कहा ,‘हम यहां विजडन ट्रॉफी जीतने आए हैं लेकिन दुनिया में जो रहा है, उससे भी वाकिफ हैं और इंसाफ तथा समानता के लिये लड़ेंगे.’

होल्डर ने कहा ,‘युवा खिलाड़ियों के एक समूह के रूप में हमें वेस्टइंडीज क्रिकेट के समृद्ध इतिहास की जानकारी है और हमें पता है कि आने वाली नस्ल के लिये हम उस विरासत के वाहक हैं .’

उनका मानना है कि नस्लवाद के मामले में भी डोपिंग और भ्रष्टाचार की तरह कार्रवाई की जानी चाहिए . उन्होंने कहा ,‘हमने यह लोगो पहनने का फैसला हल्के में नहीं लिया. हमें पता है कि चमड़ी के रंग पर टिप्पणी करने पर कैसा लगता है. समानता और एकता जरूरी है . जब तक वह नहीं होगी, हम चुप नहीं बैठ सकते.’