नई दिल्ली. वेस्टइंडीज के खिलाफ टेस्ट सीरीज की शुरुआत तो इंग्लैंड की अच्छी नहीं हुई लेकिन उसने इसका अंत शानदार जीत के साथ किया. इंग्लैंड ने सेंट लुसिया में खेला तीसरा टेस्ट मैच 232 रन से जीता. हालांकि, पहले दो टेस्ट गंवा चुके होने की वजह से 3 टेस्ट मैचों की सीरीज पर उसका कब्जा नहीं हो सका और टेस्ट सीरीज 2-1 से वेस्टइंडीज के नाम रही. वैसे, इंग्लैंड के लिए सेंट लुसिया टेस्ट में मिली जीत का भी कोई फायदा नहीं. क्योंकि, इसने उसे ICC की ‘नजर’ यानि टेस्ट टीम रैंकिंग में और गिरा दिया है.

‘गिर’ गया इंग्लैंड!

इंग्लैंड ने वेस्टइंडीज के खिलाफ टेस्ट सीरीज की शुरुआत नंबर 3 टेस्ट टीम की हैसियत से की थी. लेकिन, जब सीरीज खत्म हुई तो वो गिरकर 5वें नंबर की टीम बन गई. कैरेबियाई धरती पर सीरीज गंवाने की वजह से उसे 4 प्वाइंट लुटाने का खामियाजा उठाना पड़ा है और उसके अब 104 प्वाइंट है. टेस्ट टीम रैंकिंग में इंग्लैंड के इस तरह से गिरने का फायदा ऑस्ट्रेलिया को पहुंचा है जो 5वें से चौथे नंबर पर चढ़ गया है. ऑस्ट्रेलिया का भी रेटिंग प्वाइंट 104 ही है पर वो डेसिमल की गणणा के आधार पर इंग्लैंड से आगे हैं. उधर, सीरीज फतह करने वाली वेस्टइंडीज की टीम को पूरे 7 प्वाइंट का फायदा पहुंचा है और वो नई टेस्ट टीम रैंकिंग में 8वें नंबर पर पहुंच गए हैं.

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 15 फरवरी को टीम इंडिया का एलान, ये ‘बदलाव’ चौका देंगे!

टीम इंडिया अव्वल

टेस्ट टीम रैंकिंग में लंबे समय से चली आ रही हिदुस्तानी शान यानी टीम इंडिया की बादशाहत अब भी बरकरार है. वहीं, साउथ अफ्रीका नंबर 2 जबकि न्यूजीलैंड तीसरे पोजिशन पर है.

नई टेस्ट टीम रैंकिंग को देखकर इस बात का भी अंदाजा लगाया जा सकता है कि कैसे क्रिकेट के लंबे फॉर्मेट में टीम इंडिया को छोड़ बाकी एशियाई टीमें पतन की ओर हैं. 90 के दशक में जिस श्रीलंका और पाकिस्तान की तूती बोलती थी उन्हें आज छठे और 7वें पोजिशन से संतुष्ट होना पड़ रहा है.