इंग्लैंड के खिलाफ पहले दो वनडे मैचों में हार चुकी भारतीय महिला टीम के बल्लेबाज अपनी कप्तान मिताली राज (Mithali Raj) का साथ देने में असफल साबित हो रहे हैं। इंग्लैंड के खिलाफ दोनों वनडे मुकाबलों में भारतीय टीम का बल्लेबाजी क्रम पूरी तरह लड़खड़ाया है और केवल मिताली ही रन बनाने में कामयाब रहीं।Also Read - मुझे नहीं लगता कि विराट कोहली के कप्तानी छोड़ने के फैसले से RCB टीम को परेशानी हो रही है: ब्रायन लारा

मिताली ने दो वनडे में कुल 131 रन बनाए हैं। उनके अलावा शैफाली वर्मा है जिन्होंने 50 से ज्यादा का स्कोर किया है। मिताली ने दोनों मैचों में अर्धशतक लगाए हैं। उन्होंने 72 और 59 रनों की पारियां खेली थी। Also Read - दिल्ली कैपिटल्स के पास IPL 2021 प्लेऑफ के लिए क्वालिफाई करने का अच्छा मौका: कगीसो रबाडा

भारत की लेग स्पिनर पूनम यादव ने कहा है कि बल्लेबाजों को गैप निकालकर स्कोर करने और लड़खड़ाने से बचने की जरूरत है। पूनम ने कहा, “बल्लेबाजी यूनिट ध्वस्त हो रहा है लेकिन मुझे भरोसा है कि हम तीसरे वनडे में अच्छा प्रदर्शन करेंगे।” Also Read - IPL 2021, DC vs SRH: कब और कहां देखें दिल्ली कैपिटल्स vs सनराइजर्स हैदराबाद मैच की लाइव स्ट्रीमिंग

उन्होंने कहा, “हम वापसी करेंगे। विश्व कप अगले साल होना है और हम फील्ड सजाने को लेकर काम कर रहे हैं जिससे विश्व कप के लिए मदद मिल सके।”

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 22 साल पूरे करने वाली मिताली सर्वाधिक रन बनाने वालों की लिस्ट में शामिल हैं। उनके अलावा टैमी ब्यूमोंट (97), नताली स्काइवर (93) और सोफिया डंक्ली (73) भी शामिल हैं। दो मैचों में 59 रनों के साथ शैफाली शीर्ष पांच में शामिल हैं।

भारत की उपकप्तान हरमनप्रीत कौर खराब फॉर्म में चल रही हैं और उन्होंने दो मैचों में सिर्फ 20 रन बनाए हैं। उनके अलावा दीप्ति शर्मा ने 35 रन और पूनम राउत ने दो मैचों में 32 रन बनाए हैं।