नई दिल्ली: इंग्लैंड ने डेथ ओवरों में शानदार गेंदबाजी की बदौलत तीसरे एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में कप्तान केन विलियमसन के शतक के बावजूद न्यूजीलैंड को चार रन से हराकर पांच मैचों की श्रृंखला में 2-1 की बढ़त बना ली. विलियमसन ने मध्यक्रम के ध्वस्त होने के बाद नाबाद 112 रन की पारी खेली लेकिन इसके बावजूद टीम 235 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए आठ विकेट पर 230 रन ही बना सकी. Also Read - ICC World Test Championship, Points Table: SA जाने से इनकार करने से AUS फाइनल से बाहर, NZ की फाइनल में जगह पक्‍की

Also Read - India vs Austalia, 3rd ODI, Predicted XI: दोनों टीमों का कैसा रहेगा प्‍लेइंग-XI, जानें मौसम का हाल और Pitch Report

न्यूजीलैंड के मध्यक्रम को ध्वस्त करने में उसके स्पिनरों मैन ऑफ द मैच आफ स्पिनर मोईन अली (36 रन पर तीन विकेट) और लेग स्पिनर आदिल राशिद (34 रन पर दो विकेट) की अहम भूमिका रही. इससे पहले न्यूजीलैंड ने गेंदबाजों के उम्दा प्रदर्शन से इंग्लैंड को 234 रन पर समेट दिया. Also Read - IND vs AUS 3rd ODI Live Streaming: कब-कहां और कैसे देखें भारत vs ऑस्ट्रेलिया तीसरे वनडे की Online स्ट्रीमिंग और Live Telecast

निदाहस ट्रॉफी से पहले बांग्लादेश को लगा बड़ा झटका, कप्तान चोटिल होकर टीम से बाहर

न्यूजीलैंड की ओर से लेग स्पिनर ईश सोढ़ी ने 53 रन देकर तीन जबकि ट्रेंट बोल्ट ने 47 रन देकर दो विकेट चटकाए. कोलिन डि ग्रैंडहोम ने बेहद किफायती गेंदबाजी करते हुए 10 ओवर में सिर्फ 24 रन देकर एक विकेट हासिल किया. लक्ष्य का पीछा करते हुए न्यूजीलैंड की टीम एक समय 21वें ओवर में दो विकेट पर 97 रन बनाकर अच्छी स्थिति में थी लेकिन इसके बाद उसका स्कोर 25वें ओवर में छह विकेट पर 103 रन हो गया.

विलियमसन और मिशेल सेंटनर (41) ने सातवें विकेट के लिए 91 रन जोड़कर टीम को जीत की दौड़ में बनाए रखा. टीम को अंतिम दो ओवर में जीत के लिए पांच ओवर में जीत के लिए सिर्फ 36 रन की दरकार थी लेकिन क्रिस वोक्स (40 रन पर दो विकेट) ने इनमें से तीन ओवर में सिर्फ 15 रन देकर इंग्लैंड की जीत सुनिश्चित की.

आईपीएल में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले टॉप पांच खिलाड़ी, चेन्नई का यह खिलाड़ी है नंबर 1 पर

न्यूजीलैंड को वोक्स के अंतिम ओवर में 15 रन की जरूरत थी लेकिन विलियमसन 10 रन ही जुटा पाए. उन्होंने 143 गेंद की अपनी पारी में छह चौके और दो छक्के मारे. इससे पहले न्यूजीलैंड ने टॉस जीतकर गेंदबाजी करने का फैसला किया जिसके बाद इंग्लैंड के अधिकांश बल्लेबाज दोहरे अंक में पहुंचे लेकिन कोई बड़ी पारी नहीं खेल पाया. कप्तान इयोन मोर्गन 48 रन बनाकर इंग्लैंड की ओर से शीर्ष स्कोरर रहे.

जोस बटलर ने 23 गेंद में 29 रन बनाए लेकिन सोढ़ी ने उनकी पारी का अंत किया. इंग्लैंड ने शुरुआत धीमी की. जेसन राय 15 रन बनाने के बाद बोल्ट की गेंद पर पवेलिन लौटे जिससे आठ ओवर में टीम का स्कोर एक विकेट पर 25 रन था. न्यूजीलैंड ने 11वें ओवर में मिशेल सेंटनर के रूप में स्पिनर को आजमाया और उनकी पांचवीं गेंद पर ही जो रूट भाग्यशाली रहे जब विलियमसन ने उनका मुश्किल कैच छोड़ दिया. रूट हालांकि 20 रन बनाने के बाद ग्रैंडहोम की गेंद पर मिड ऑफ पर सोढ़ी को कैच दे बैठे.

सोढ़ी ने इसके बाद जॉनी ब्रैट्शॉ को बोल्ड किया जिन्होंने 39 गेंद में 19 रन बनाए. इस समय टीम का स्कोर 17वें ओवर में तीन विकेट पर 68 रन था. मोर्गन और पिछले मैच में टीम की जीत के हीरो बेन स्टोक्स (39) ने चौथे विकेट के लिए 71 रन जोड़े लेकिन इस दौरान धीमी बल्लेबाजी की. टिम साउथी ने मोर्गन को बोल्ड करके इस साझेदारी को तोड़ा. उन्होंने 71 गेंद का सामना करते हुए तीन चौके और एक छक्का मारा. स्टोक्स भी सोढ़ी की गेंद पर लॉन्ग ऑफ पर कैच देकर पवेलियन लौटे. इसके बाद बटलर और मोईन अली (23) ने उपयोगी पारियां खेलकर टीम का स्कोर 200 रन के पार पहुंचाने में अहम भूमिका निभाई.