इंडियन प्रीमियर लीग (IPL 2020) के रद्द होने की खबरों के बीच इंग्लिश ऑलराउंडर बेन स्टोक्स (Ben Stokes) इस टूर्नामेंट के 13वें सीजन की तैयारियों में जुटे हैं। स्टोक्स आईपीएल की राजस्थान रॉयल्स (Rajasthan Royals) फ्रेंचाइजी के साथ जुड़े हुए हैं। लेकिन कोरोना वायरस की वजह से इस टूर्नामेंट को 15 अप्रैल तक के लिए स्थगित कर दिया है, वहीं अब इसके रद्द होने की आशंका जताई जा रही है। Also Read - कोरोना से जंग: राष्ट्रपति, उप राष्ट्रपति व प्रधानमंत्री सहित इन लोगों के वेतन में होगी कटौती

बुधवार को बीबीसी से बातचीत में स्टोक्स ने कहा, “फिलहाल आईपीएल मेरी अगली क्रिकेट प्रतियोगिता होती। ये अभी तक बदला नहीं है इसलिए मुझे यही सोचना होगा कि अप्रैल 2020 में मैं खेलूंगा।” Also Read - Coronavirus Lockdown: लॉकडाउन में नहीं होगी आटे की किल्लत, ये नामी कंपनी पूरी करेगी मांग

पिछले हफ्ते ही इंग्लैंड और वेल्स क्रिकेट बोर्ड ने ये ऐलान किया था कि काउंटी सीजन 28 मई तक शुरू नहीं होगा। जबकि इंग्लैंड की राष्ट्रीय टीम भी कोरोना वायरस की वजह से श्रीलंका दौरे से वापस आ गई। आईपीएल के रद्द होने को लेकर अभी तक कोई फैसला ना आने की वजह से स्टोक्स अपने आपको अप्रैल में भारत में खेलने के लिए फिट बनाने में लगे हैं। Also Read - कोरोना वायरस: मुकेश अंबानी की संपत्ति दो महीने में 28 प्रतिशत गिरकर हुई 48 अरब डॉलर पर

उन्होंने कहा, “मुझे अपने आपको ये समझाना होगा कि मैं खेल रहा हूं जबकि मुझे कहीं ना कहीं ये पता है कि मैं नहीं खेलूंगा। मुझे खुद को शारीरिक तौर पर उस स्थिति में पहुंचाना होगा जहां मैं खेलने के लिए तैयार रहूं। मैं तीन हफ्ते की छुट्टी लेकर ये उम्मीद नहीं कर सकता कि मेरा शरीर 20 अप्रैल को खेलने के लिए तैयार होगा क्योंकि ये ऐसे काम नहीं करता। ये (आईपीएल) शायद हो और अगर ऐसा होता है तो मैं पीछे नहीं रहना चाहता।”

स्टोक्स ने बताया कि जब उन्हें ये बताया गया कि श्रीलंका दौरा रद्द किया जा रहा है तो सभी खिलाड़ी हैरान थे। उन्होंने कहा, “पहले आधे घंटे तक ड्रेसिंग रूम में हर कोई सकते में था। ये इतना अजीब था क्योंकि हम 10-12 दिन से वहां थे। हम पहले मैच की तैयारियां कर रहे थे और फिर हम घर वापस जा रहे थे।”

इंग्लिश खिलाड़ी ने आगे कहा, “लेकिन जब आप कोरोना वायरस का दुनिया पर क्या प्रभाव है और दौरे पर क्या कहा गया था, इन सब चीजों को ध्यान में लेते हैं तो उस समय वो रहने के लिए गलत जगह थी और सभी का स्वास्थ्य दुनिया की किसी और चीज से ज्यादा अहम है।”