इंग्लैंड ने दक्षिण अफ्रीका को चौथे टेस्ट मैच में 191 रन से हराकर 4 मैचों की सीरीज 3-1 से जीत ली है. इंग्लिश टीम के लिए दक्षिण अफ्रीका के दौरे पर टेस्ट सीरीज में यह लगातार दूसरी सफलता है. इससे पहले 2015-16 में एलिस्टर कुक की कप्तानी में इंग्लैंड ने सीरीज 2-1 से अपने नाम की थी. Also Read - IND VS ENG: Ben Stokes ने गुलाबी गेंद पर किया लार का इस्तेमाल, अंपायर ने की बात

ICC U19 World Cup 2020: क्वार्टर फाइनल में इस प्लेइंग XI के साथ उतर सकता है भारत, जानिए मौसम का हाल और पिच का मिजाज Also Read - WATCH: बेन स्टोक्स के ड्रॉप कैच को लेकर सोशल मीडिया पर बवाल, फैंस ने की आलोचना

466 रन का लक्ष्य था सामने  Also Read - IND vs ENG- Pink Ball Test, Day 1 Highlights: पहले दिन का खेल खत्म, भारत 13 रन पीछे, IND: 99/3

रासी वान डर डुसन की 98 रन की संघर्षपूर्ण पारी भी दक्षिण अफ्रीका को इंग्लैंड के खिलाफ चौथे टेस्ट मैच में हार से नहीं बचा सकी. 466 रन का लक्ष्य का पीछा करने उतरी दक्षिण अफ्रीका की टीम 274 रन पर ढेर होगई.

दक्षिण अफ्रीका ने पहली पारी में 183 जबकि दूसरी पारी में 248 रन बनाए 

इंग्लैंड के पहली पारी में 400 रन के जवाब में दक्षिण अफ्रीका ने 183 रन बनाया था. इंग्लैंड की दूसरी पारी 248 रन पर सिमटी थी. चौथी पारी में जीत के लिए रिकॉर्ड 466 रन का लक्ष्य का पीछा करते हुए डुसन ने कप्तान फाफ डु प्लेसिस (35) के साथ 30 ओवर से अधिक की साझेदारी में तीसरे विकेट के लिए 92 रन जोड़े.

मार्क वुड ने मैच में कुल 9 विकेट चटकाए 

बेन स्टोक्स (47 रन पर दो विकेट) ने डु प्लेसिस को बोल्ड कर इस साझेदारी को तोड़ा जबकि अगले ओवर में मैन ऑफ द मैच मार्क वुड ने डुसन को पवेलियन का रास्ता दखाया. डुसन दो रन से अपना पहला शतक बनाने से चूक गए लेकिन उन्होंने 138 गेंद की पारी में 15 चौके और दो छक्के लगाए. पहली पारी में पांच विकेट लेने वाले मैन आफ द मैच वुड ने दूसरी पारी में 54 रन देकर चार विकेट लिए.

सौरव गांगुली बोले-नई चयन समिति दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ ODI सीरीज के लिए करेगी टीम का चयन

दो ओवर में दो विकेट गंवाने के बाद लय में चल रहे क्विंटन डि कॉक (39) और टेंबा बावुमा (27) अच्छी शुरुआत को बड़ी पारी में नहीं बदल सके. दोनों की पांचवें विकेट के लिए 48 रन की साझेदारी को ब्राड (26 रन पर दो विकेट) ने बावुमा को आउट कर तोड़ा. दक्षिण अफ्रीका ने आखिरी 6 विकेट 10 ओवर के अंदर गंवाए.

आखिरी टेस्ट खेल रहे वर्नोन फिलेंडर ने क्रीज पर उतरते हुए दो शानदार चौके लगाए लेकिन 11 गेंद में उनकी 10 रन की पारी को वुड ने विकेटकीपर बटलर के हाथों कैच कराकर खत्म किया. स्टोक्स को मैन ऑफ द सीरीज चुना गया.