कोलकाता नाइट राइडर्स (KKR) और दिल्ली कैपिटल्स (Delhi Capitals) के बीच खेले गए आईपीएल (IPL) मुकाबले के दौरान रविचंद्रन अश्विन (Ravichandran Ashwin) और इयोग मोर्गन (Eoin Morgan) के बीच मैदान पर तीखी तकरार के बाद मामले को शांत करने में सीनियर खिलाड़ी दिनेश कार्तिक (Dinesh Karthik) और विकेटकीपर बल्लेबाज रिषभ पंत (Rishabh Pant) ने अहम भूमिका निभाई।Also Read - IPL Team Auction Live: आईपीएल को मिली दो नई टीमें, जानें अहमदाबाद-लखनऊ फ्रेंचाइजी से BCCI को हुई कितनी कमाई ?

मामला दिल्ली टीम की पारी का है, जब कोलकाता के फील्डर राहुल त्रिपाठी ने थ्रो फेंका और गेंद दिल्ली के कप्तान रिषभ पंत से टकराकर दूर चली गई। अश्विन ने मौके का फायदा उठाकर अतिरिक्त रन लेने की कोशिश की। अगले ओवर में अश्विन टिम साउदी की पहली गेंद पर कैच आउट हुए। Also Read - आईपीएल की दो नई टीमों के लिए दस पार्टियों ने लगाई बोली; 5:30 बजे होगा नामों का ऐलान

जब अश्विन पवेलियन की ओर जा रही थे तो साउदी ने उनसे कुछ कहा, जिसके बाद मैदान से बाहर जा रहे अश्विन इसके रुक गए और उन्हें नाइट राइडर्स के कप्तान इयोन मोर्गन ओर आते देखा गया। कार्तिक इसके बाद दोनों के बीच में आ गए और उन्होंने तमिलनाडु टीम के अपने साथी से आग्रह किया कि वो मैदान से चले जाएं। Also Read - न्यूजीलैंड के खिलाफ मैच से पहले एक हफ्ते के ब्रेक मे मदद मिलेगी लेकिन ओस की चिंता बरकरार: कोहली

मैच के बाद कार्तिक ने खुलासा किया कि उनके कप्तान मोर्गन को लगा कि ये ‘खेल भावना’ के अंतर्गत नहीं था और टिम साउथी की गेंद पर जब अश्विन आउट हुए तो उन्होंने उसे ये बात कही।

कार्तिक ने दिल्ली के खिलाफ तीन विकेट की जीत के बाद कहा, ‘‘मुझे पता है कि जब राहुल त्रिपाठी ने थ्रो किया और गेंद रिषभ पंत के शरीर से लगकर दूर चली गई तो अश्विन ने रन की मांग की और उन्होंने रन लेना शुरू कर दिया।’’

उन्होंने कहा, ‘‘मुझे नहीं लगता कि मोर्गन को ये पसंद आया। मुझे लगता है कि वो उम्मीद करता है कि अगर गेंद बल्लेबाज या बल्ले से लगती है तो वो खेल भावना में रन नहीं लेगा। ये काफी रोचक विषय है, इस पर मेरा अपना नजरिया है। लेकिन फिलहाल मैं सिर्फ इतना कहूंगा कि मुझे खुशी है कि मैंने मामला शांत करने में भूमिका निभाई और अब चीजें ठीक हो गई हैं।’’

दिल्ली के कप्तान पंत ने इस मामले को अधिक तवज्जो नहीं देते हुए कहा कि ये खेल का हिस्सा है। उन्होंने कहा, ‘‘मुझे लगता है कि ये खेल का हिस्सा है क्योंकि दोनों टीमें मैच जीतने का प्रयास कर रही थीं इसलिए कुछ होना था। जो भी खेल के लिए अच्छा है वो मुझे लगता है कि खेल भावना के तहत है।’’

पंत ने साथ ही कहा कि किसी को भी इस तरह की बहस को अधिक तवज्जो नहीं देनी चाहिए। उन्होंने कहा, ‘‘आखिर में ऐश और मोर्गन दोनों अपनी टीमों के लिए मैच जीतने की कोशिश कर रहे थे और उनके बीच कुछ संवादहीनता थी।’’