नस्लभेद के आरोपों को खारिज करते हुए इंग्लैंड की विश्व चैंपियन टीम के कप्तान इयोन मोर्गन (Eoin Morgan) ने कहा कि कथित तौर पर भारतीयों का मजाक बनाने वाले उनके अतीत के ट्वीट को तोड़-मरोड़कर पेश किया गया. इंग्लैंड का क्रिकेट जगत इस महीने की शुरुआत में उस समय स्तब्ध हो गया जब तेज गेंदबाज ओली रोबिनसन को 2012-13 के उनके नस्लवादी और लिंगभेदी ट्वीट के लिए इंग्लैंड एवं वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) ने निलंबित कर दिया. इसके तुरंत बाद मोर्गन और विकेटकीपर बल्लेबाज जोस बटलर के ट्वीट सोशल मीडिया पर वायरल हो गए जिसमें वे ‘सर’ शब्द का इस्तेमाल करके भारतीयों का मजाक उड़ा रहे थे.Also Read - Twitter पर 'अपरिचित' को देख हैरान हुए फैंस, सुपरस्टार Chiyaan Vikram बोले- 'मैं 15 साल लेट हूं'

बुधवार से कार्डिफ में श्रीलंका के खिलाफ इंग्लैंड की सीमित ओवरों की श्रृंखला से पहले मोर्गन ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘मैं इन चीजों पर काफी ध्यान नहीं देता. अगर मैं सोशल मीडिया या दुनिया में कहीं भी किसी को ‘सर’ कहता हूं तो यह सराहना या सम्मान का संकेत है.’’ Also Read - क्या? एलोन मस्क का एक सीक्रेट इंस्टाग्राम अकाउंट है? छुप-छुपकर करते हैं ये काम

मोर्गन ने कहा, ‘‘अगर इसे तोड़-मरोड़कर पेश किया जाता है तो मैं इसे नियंत्रित नहीं कर सकता और ना ही इसके बारे में कुछ कर सकता हूं. इसलिए मैंने इस पर गौर नहीं किया.’’ Also Read - ट्विटर के 54 लाख यूजर, कई का पर्सनल डेटा लीक हुआ, माइक्रो ब्लॉगिग मंच ने अब किया स्वीकार

इसके घटना के बाद ईसीबी ने वादा किया था कि प्रासंगिक और उचित कार्रवाई की जाएगी. बोर्ड ने कहा था कि प्रत्येक मामले को व्यक्तिगत आधार पर देखा जाएगा. बटलर के संदेश का स्क्रीनशॉट भी ट्विटर पर साझा किया गया जिसमें उन्होंने कहा था, ‘‘मैं सर नंबर एक को हमेशा यही जवाब देता हूं, मेरे जैसा, आप जैसा, मेरे जैसा.’’ मोर्गन ने बटलर को टैग करके एक संदेश में लिखा, ‘‘सर आप मेरे पसंदीदा बल्लेबाज हो.’’

कोलकाता नाइट राइडर्स के मुख्य कोच ब्रेंडन मैकुलम भी कथित तौर पर बाद में इस संवाद से जुड़ गए. बटलर और मोर्गन दोनों इंडियन प्रीमियर लीग में खेलते हैं. बटलर राजस्थान रॉयल्स के लिये खेलते हैं जबकि मोर्गन नाइट राइडर्स के कप्तान हैं.