कोरोना वायरस से संक्रमित हुए बांग्लादेश के पूर्व कप्तान मशरफे मुर्तजा (Mashrafe Mortaza) ने फैंस ने अपने जल्द स्वस्थ होने की प्रार्थना करने का निवेदन किया है।Also Read - Corona Update: देशभर में पिछले 24 घंटे में 2.50 लाख से ज्यादा नए मामले, 3.47 लाख ने संक्रमण को मात दी

शनिवार को बांग्लादेश के इस सीनियर क्रिकेटर को कोविड-19 टेस्ट पॉजिटिव आया था। जिसके बाद मुर्तजा ने ट्विटर के जरिए खबर की पुष्टि की। उन्होंने लिखा, “आज मेरा कोरोनावायरस टेस्ट पॉजिटिव आया है। सभी लोग प्लीज मेरे जल्द स्वस्थ होने की कामना करें।” Also Read - Omicron in India: विशेषज्ञ बोले - देश में जल्द खत्म होगी तीसरी लहर, साथ ही दी यह हिदायत

पूर्व कप्तान ने लोगों से भी सावधान रहने की गुजारिश की। उन्होंने कहा, “संक्रमित लोगों की संख्या अब एक लाख के पार कर गई है। हम सभी को अधिक सावधान रहना होगा। सभी घर पर रहें, और जब तक ये आवश्यक ना हो, बाहर ना निकलें। मैं घर पर प्रोटोकॉल का पालन कर रहा हूं।” Also Read - Vaccine नहीं लगवाने वाले लोग कोरोना की तीसरी लहर में ज्यादा प्रभावित, मृत्यु भी ज्यादा

संसद के सदस्य मशरफे महामारी के दौरान भी लोगों की मदद करने में सक्रिय रहे। खासकर पश्चिती ढाका के अपनी संसदीय क्षेत्र नरेल में। नारेल स्वास्थ्य अधिकारी ने कहा कि उनकी सास और एक रिश्तेदार भी पिछले हफ्ते कोरोना वायरस से संक्रमित हुए।

मुर्तजा से पहले बांग्लादेश के सलामी बल्लेबाज तमीम इकबाल के बड़े भाई नफीस (Nafees Iqbal) जिन्होंने अपने देश के लिए 11 टेस्ट और 16 वनडे मैच खेले और वर्तमान में एक घरेलू क्रिकेट कोच हैं, वो भी कोविड-19 से संक्रमित हो चुके हैं।

शनिवार को ईमेल के जरिए नफीस ने रिपोर्ट्स के सवालों के जवाब दिए। उन्होंने लिखा, “दस दिन पहले मुझे बुखार था। दो दिन तक मेरे शरीर का तापमान बढ़ा रहा। मुझे भूख नहीं लग रही थी, कमजोरी महसूस हो रही थी। फिर मैंने अपने सैंपल टेस्ट के लिए भेजा और मेरा कोविड-19 टेस्ट पॉजिटिव आया।”

एक और बांग्लादेशी खिलाड़ी हुआ संक्रमित

बाएं हाथ के गेंदबाज नजमुल इस्लाम (Nazmul Islam) जिन्होंने अपने नारायनगंज में जरूरमंदों की मदद से जुड़े कार्यक्रम में हिस्सा लिया था, उन्होंने बताया कि उनका रिजल्ट शनिवार को आया।

उन्होंने कहा, “मुझे नहीं पता कि ये कैसे हुआ। मेरे साथ मेरे माता-पिता का टेस्ट भी पॉजिटिव आया है।”

इन तीन क्रिकेटरों समेत बांग्लादेश में अब तक कुल 108,000 इस वायरस के शिकार हो चुके हैं और 1400 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है।