ऑस्ट्रेलियाई दौरे पर 0-2 से मिली शर्मनाक हार के बाद पाकिस्तान टेस्ट टीम के खिलाड़ियों पर काफी सवाल उठाए जा रहे हैं। बाबर आजम (Babar Azam) को छोड़कर पाक टीम के शीर्ष क्रम बल्लेबाज ऑस्ट्रेलिया में खास रन नहीं बना सके। हालांकि स्पिनर यासिर शाह (Yasir Shah) ने एक शानदार शतक जड़ा लेकिन बाकी खिलाड़ियों के खाते में कोई बड़ा स्कोर नहीं आया। इसके बावजूद पूर्व कोच मिकी आर्थर (Mickey Arthur) ने असद शफीक (Asad Shafiq) की पैरवी की है। आर्थर का कहना है कि वो शकीफ के बिना पाकिस्तान टेस्ट टीम कभी नहीं चुनते।

बता दें कि शफीक ने दो मैचों की चार पारियों में 35.50 की औसत से मात्र 142 रन ही बनाए। इस मध्यक्रम बल्लेबाज के बारे में आर्थर ने कहा, “असद शफीक की पाकिस्तान में काफी आलोचना होती है, ये उसके प्रति अन्याय है। यूनिस/मिसबाह के रिटायरमेंट के समय जब उस पर आगे आने का दबाव था तो वो उससे खामोशी से गुजरा।”

गुजरात के नए मोटेरा स्टेडियम में ASIA XI vs WORLD XI मैच करा सकता है BCCI

पूर्व दक्षिण अफ्रीकी क्रिकेटर ने कहा, ” उसके पास अच्छी तकनीक है, वो हर हालात में खेल सकता है। नंबर पांच उसके लिए सही है। मैं उसके बिना पाकिस्तानी टेस्ट टीम नहीं चुनता, वो स्लिप का अच्छा फील्डर भी है।”

आर्थर ने हमेशा की तरह बाबर की जमकर तारीफ की। उन्होंने कहा, “बाबर अपने पूरे करियर में पाकिस्तान के लिए नंबर चार पर खेलेगा। वो अगले 10 सालों तक खेलेगा। वो पिछले एक साल से 50 के औसत से खेल रहा है। उसके पहले 6 मैच मुश्किल थे, फिर वेस्टइंडीज के खिलाफ वो कई बार शून्य पर आउट हुआ।”

उन्होंने कहा, “जैक कैलिस की तरह उसका औसत घट गया। वो (कैलिस) टिका रहा क्योंकि वो उतना अच्छा है और 50 के औसत के साथ (करियर) खत्म किया। बाबर भी वही करेगा, उसने नीचे से शुरुआत की है क्योंकि मुश्किल हालातों में उसे अच्छी शुरुआत नहीं मिली। वो ताकत से आगे जाएगा।”