भारतीय टीम के पूर्व  कप्तान अनिल कुंबले (Anil Kumble) का मानना है कि विराट कोहली (Virat Kohli) की नेतृत्व वाली भारतीय क्रिकेट टीम (Indian Cricket Team) के पास विश्व में अपना दबदबा कायम करने की क्षमता है.

पढ़ें:- रवि शास्‍त्री बोले- धोनी पर वो लोग सवाल उठा रहे हैं जो जूते...

दुनिया की नंबर-1 टेस्ट टीम भारतीय टीम ने अब तक विश्व टेस्ट चैंपियनशिप (ICC Test Championship) में पांच टेस्ट मैच खेले हैं। सभी मैच जीतकर भारत के पास 240 अंक है। हम इस वक्‍त अंकतालिका में शीर्ष पर हैं.

अनिल कुंबले ने स्टेडियम में दर्शकों की तादाद बढ़ाने के लिये विराट कोहली के टेस्ट मैचों के लिये पांच केंद्र रखने के विचार का समर्थन किया। कुंबले हालांकि चाहते हैं कि बीसीसीआई 80 और 90 के दशक की पुरानी परंपरा अपनाये जिसमें त्योहारों के दौरान टेस्ट मैच विशेष केंद्र में ही कराये जाते थे।

अस्सी और नब्बे के दशक के दौरान बीसीसीआई कैलेंडर में नव वर्ष के समय कोलकाता में और पोंगल के समय चेन्नई में टेस्ट मैच आयोजित किये जाते थे।

क्रिकेटनेक्सट से बातचीत के दौरान अनिल कुंबले ने कहा, ” हां, मेरा भी ऐसा भी ऐसा ही मानना है. तीन साल पहले जब मैं कोच था तब मैंने कहा था कि इस टीम के पास दुनिया में अपनी प्रभुत्व कायम करने की क्षमता है और टीम ने ठीक वैसा ही किया है. यह न केवल अंतिम एकादश के साथ हुआ है बल्कि मजबूत बैंच स्ट्रेंथ के चलते भी हुआ है.”

पढ़ें:- सौरव गांगुली के बीसीसीआई अध्‍यक्ष बनने पर शास्‍त्री ने दी प्रतिक्रिया, कहा…

पूर्व कोच ने कहा, “यह मजबूत बैंच स्ट्रेंथ के चलते भी हुआ है, जिसका हम लोग जिक्र कर रहे हैं. आपके पास शानदार क्वालिटी है. टीम में जो भी आते हैं, वह निश्चित रूप से अच्छा करते हैं.”

कुंबले ने आगे कहा, “आप शाहबाज नदीम का पदार्पण देख लीजिए. प्रथम श्रेणी में उनका लंबा करियर रहा है और वह कई बार इंडिया-ए के लिए खेल चुके हैं. उन्हें अंतिम समय पर सही मौका दिया गया और उन्होंने टीम के लिए अच्छा किया. जब आपके पास इस तरह के बैंच स्ट्रेंथ हो तो हर कोई अपना प्रभाव छोड़ना चाहेगा.”