कोविड-19 महामारी की वजह से खेलों पर लगे ब्रेक के बीच भारतीय क्रिकेट टीम रीहैब और फिटनेस पर काम कर रही है। इस बीच टीम के फीजियो उन खिलाड़ियों पर खास ध्यान दे रहे हैं जो कि चोटिल हैं या फिर चोट से उबर रहे हैं। टीम इंडिया के चोटिल खिलाड़ियों में उप कप्तान रोहित शर्मा (Rohit Sharma) के साथ तेज गेंदबाज इशांत शर्मा (Ishant Sharma) का नाम शामिल है। Also Read - गेंदबाजी कोच की सलाह- अपने राज्य के मैदानों पर अभ्यास शुरू करें भारतीय क्रिकेटर

टीम के ट्रेनर निक वेब और फिजियो नितिन पटेल ने भी रोहित, इशांत और दीपक चाहर जैसे चोटिल खिलाड़ियों के रिहैबलिटेशन पर जोर दिया है। Also Read - पूर्व पाक कप्‍तान ने माना राहुल द्रविड़ का लोहा, इस मामले में सभी भारतीय क्रिकेटर से आगे हैं 'द वॉल'

आईएएनएस से बातचीत में टीम मैनैजमेंट से जुड़े सूत्र ने कहा, “खिलाड़ियों को फिट रखने और तैयार रखने का विचार है। स्ट्रेंथ और कंडिशनिंग की क्लास चालू हैं और जैसा कि आप जानते हैं कि उनके प्रदर्शन को वेब और पटेल द्वारा एथलीट मॉनिटरिंग सिस्टम (एएमएस) के माध्यम से परखा जाता है। जांच के बाद वे दोनों खिलाड़ियों को आवश्यक इनपुट देते हैं। इसके अलावा रिहैब पर भी ध्यान केंद्रित किया गया है।” Also Read - लॉकडाउन में बिना कुछ किए विराट कोहली ने कमाए करोड़ों, इस सूची में टॉप-10 में शामिल

उन्होंने कहा, “जैसा कि आप जानते हैं कि कोरोनावायरस से पहले कई खिलाड़ी चोटिल थे। इसलिए फिजियो इस बात की भी जांच कर रहे हैं कि उन्होंने फिटनेस के स्तर को कहां तक हासिल किया है, जो कि एक एथलीट को हासिल करना चाहिए।”

सूत्र ने कहा, “जब आप ज्यादा क्रिकेट खेल रहे होते हैं और भारतीय खिलाड़ियों की तरह यात्रा करते हैं तो आप भी चोटिल होते हैं। ये सिर्फ तेज गेंदबाजों तक ही सीमित नहीं है। ये बल्लेबाजों के लिए भी हो सकता है। ये एक ऐसा एरिया है जिस पर सपोर्ट स्टाफ काम कर रहे हैं। वे इस बात को सुनिश्चित कर रहे हैं कि जब खिलाड़ी दोबारा से मैदान पर लौटें तो ना केवल वे खुद को तरोताजा रखें बल्कि पूरी तरह से फिट भी रहें।”