जोहानिसबर्ग: दक्षिण अफ्रीकी क्रिकेट टीम के कप्तान फाफ डु प्लेसिस ने गुरुवार को कहा कि उन्हें लगता है कि ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव स्मिथ पर लगा 12 महीने का प्रतिबंध काफी ‘कड़ा’ है. उन्होंने जोहानिसबर्ग में मीडिया कॉन्फ्रेंस में कहा कि उन्हें स्मिथ के लिये बहुत दुख है और उन्होंने उनके समर्थन में एक संदेश भेजा है. डु प्लेसिस ने वांडरर्स में चौथे और अंतिम टेस्ट की पूर्व संध्या पर बात करते हुए कहा, ‘यह सप्ताह काफी विवाद भरा रहा. स्मिथ अभी जिस दौर से गुजर रहे हैं, मुझे उनके प्रति सहानुभूति है.’ Also Read - IPL 2020 Points Table, Orange and Purple Cap latest update: राजस्थान को हरा टॉप-4 के करीब पहुंची हैदराबाद

Also Read - चीन को जवाब! मालाबार युद्धाभ्यास में अमेरिका और जापान के अलावा अब ऑस्ट्रेलिया भी होगा शामिल

डु प्लेसिस खुद गेंद से छेड़छाड़ के आरोप में दो बार दोषी पाए जा चुके हैं लेकिन उन पर केवल एक बार ही जुर्माना लगा और कभी भी उन्हें प्रतिबंधित नहीं किया गया. उन्होंने कहा, ‘‘मुझे लगता है कि वे अच्छे खिलाड़ियों में से एक हैं और सिर्फ गलत जगह फंस गए. ’’ Also Read - SRH vs KKR: लॉकी फर्ग्‍यूसन ने सुपर ओवर में पलट दिया मैच, ये हैं कोलकाता की जीत के पांच हीरोज

उन्होंने कहा, ‘‘मैंने उन्हें संदेश भेजा था. मुझे सच में दिल से उनके लिए दुख महसूस हो रहा है. मैं खिलाड़ियों को इस दौर से गुजरते हुए नहीं देखना चाहता.’’ डु प्लेसिस ने कहा, ‘‘स्मिथ के लिए अगले कुछ दिन काफी मुश्किल होंगे, इसलिए मैंने उन्हें दिलासा देने के लिए संदेश भेजा कि वह इस कठिन दौर से निकल जाएंगे और उन्हें मजबूत होना चाहिए.’’

यह भी पढ़ें : केपटाउन की ‘करतूत’ पर सिडनी में ‘पछताए’ स्मिथ, 300 सेकेंड के प्रेस कॉन्फ्रेंस में फूट-फूट कर रोए

गौरतलब है कि दक्षिण अफ्रीका और ऑस्ट्रेलिया के बीच चल रही मौजूदा टेस्ट सीरीज के तीसरे मैच के दौरान ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी कैमरन बैनक्रॉफ्ट को गेंद से छेड़छाड़ की कोशिश करते हुए पकड़ा गया था. मामले का खुलासा होने के बाद टीम के कप्तान रहे स्टीव स्मिथ ने कहा था कि बॉल टेम्परिंग का फैसला टीम की लीडरशिप ग्रुप का था. इसके बाद स्मिथ और बैनक्रॉफ्ट के साथ डेविड वॉर्नर को भी टीम से बाहर कर दिया गया है. स्मिथ और वॉर्नर पर 1-1 साल तथा बैनक्रॉफ्ट पर 9 महीने का बैन भी लगाया गया है. इसके अलावा टीम के कोच डेरेन लेहमैन ने सीरीज के चौथे और अंतिम टेस्ट मैच के बाद अपने पद से इस्तीफा देने की घोषणा की है.