दक्षिण अफ्रीका क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान फाफ डु प्लेसिस (Faf du Plessis) ने कहा कि कोरोना वायरस महामारी के बीच ऑस्ट्रेलिया में होने वाले टी20 विश्व कप से पहले और टूर्नामेंट के खत्म होने के बाद दो हफ्ते तक खिलाड़ियों को आइसोलेशन में रखा जाय। टी20 विश्व कप का आयोजन इस साल अक्टूबर-नवंबर में ऑस्ट्रेलिया में होना है। Also Read - एक बार फिर यूएई ने बीसीसीआई के सामने रखा IPL आयोजन का प्रस्ताव

क्रिकेबज की रिपोर्ट के अनुसार, डु प्लेसिस ने बांग्लादेश के बल्लेबाज तमीम इकबाल से फेसबुक पर लाइव चैट के दौरान कहा, “मुझे यकीन नहीं है। बहुत सारे देशों के लिए यात्रा एक मुद्दा बनने जा रही है और वो दिसंबर या जनवरी के बारे में बात कर रहे हैं। लेकिन भले ही ऑस्ट्रेलिया अन्य देशों की तरह कोरोनावायरस से ज्यादा प्रभावित ना हो, लेकिन बांग्लादेश, दक्षिण अफ्रीका या भारत के लोग जहां ज्यादा खतरा है, जाहिर है कि यह उनके लिए स्वास्थ्य जोखिम की तरह है।” Also Read - पूर्व पाक गेंदबाज ने कहा- खाली स्टेडियम में टी20 विश्व कप का आयोजन सही नहीं

पूर्व कप्तान ने कहा, “अगर आपको टूर्नामेंट खेलना है तो आपको इसके शुरू होने से पहले (दो सप्ताह) आइसोलेशन में जा सकते हैं और फिर टूर्नामेंट खेल सकते हैं और फिर टूर्नामेंट बाद में दो सप्ताह के लिए आइसोलेशन में रह सकते हैं।लेकिन मुझे नहीं पता कि दक्षिण अफ्रीका कब अपनी यात्रा से प्रतिबंध हटाएगा, क्योंकि हम पुराने दिनों की तरह नावों पर नहीं जा सकते। ” Also Read - B'day Special: वर्ल्ड क्रिकेट के वो सफल जुड़वा भाई जिन्होंने 108 टेस्ट एक साथ खेले

35 वर्षीय डु प्लेसिस ने इस साल की शुरूआत में कप्तानी से इस्तीफा दे दिया था। उन्होंने कहा कि उन्होंने कप्तानी का पूरा आनंद लिया। उन्होंने कहा कि वो एक स्वभाविक कप्तान हैं। डु प्लेसिस ने कहा, “मुझे कप्तानी पसंद है। यह उसका हिस्सा है, जोकि मैं हूं। मैंने 13 साल की उम्र से ही कप्तानी की है। एक खिलाड़ी से पहले मैं अभी भी खुद को एक कप्तान मानता हूं, इसलिए मैंने इसका कही ज्यादा आनंद लिया है।”