भारतीय क्रिकेट टीम (Indian Cricket Team) ने तीन मैचों की टेस्ट सीरीज में दक्षिण अफ्रीका (South Africa Cricket Team) को 3-0 से मात दी थी. फाफ डु प्लेसिस की कप्तानी वाली मेहमान टीम उम्मीद के मुताबिक प्रदर्शन करने में असफल रही.

पहले चयन ट्रायल में फेल हो गए थे सचिन तेंदुलकर, किया खुलासा

स्वदेश लौटने के बाद डु प्लेसिस (Faf du Plessis) का कहना है कि राष्ट्रीय टीम के लिए पूर्णकालिक कोचिंग सदस्य और चयनकर्ताओं से संबंधित नियुक्तियों को तत्काल करने की जरूरत है.

डु प्लेसिस ने कहा कि महत्वपूर्ण पदों को लेकर स्पष्टता की कमी से टीम का प्रदर्शन प्रभावित हो रहा है.

क्रिकेट साउथ अफ्रीका (Cricket South Africa) ने विश्व कप में खराब प्रदर्शन के बाद कोच ओटिस गिब्सन (Ottis Gibson) और दूसरे सदस्यों को बर्खास्त कर दिया था.

बोर्ड ने इसके बाद टीम के लिए नई ढांचे की घोषणा की थी जिसमें कोच की जगह टीम निदेशक का रखा गया है.

भारत दौरे से पहले पूर्व एकदिवसीय खिलाड़ी कोरी वान जिल और इनोच एनक्वे की अंतरिम तौर पर नियुक्त किया गया था. एनक्वे को भारत दौरे की जिम्मेदारी दी गई थी.

एरोन फिंच को श्रीलंका के खिलाफ टी-20 सीरीज से पहले फिट होने की उम्मीद

डु प्लेसिस ने कहा कि ‘करियर के सबसे मुश्किल दौर से गुजरने के बाद भी’ वह कप्तान बने रहने को लेकर प्रतिबद्ध हैं लेकिन अहम पदों के लिए नियुक्तियां जल्द होनी चाहिए.

उन्होंने कहा, ‘अभी जिस चीज की सबसे ज्यादा जरूरत है वह है स्पष्टता. किसी को यह फैसला लेना होगा, पहल क्रिकेट निदेशक और फिर उसके नीचे के पदों के बारे में फैसला करना होगा.’

भारत दौरे पर तीन मैचों की टेस्ट सीरीज में टीम को बुरी तरह से हार गई थी. डु प्लेसिस ने कहा कि पूर्व खिलाड़ियों को राष्ट्रीय टीम के साथ जोड़ने की जरूरत है.

उन्होंने कहा, ‘हमें पूर्व खिलाड़ियों का इस्तेमाल टीम के साथ जोड़कर करना होगा लेकिन मुझे पता है कि वित्तीय कारणों से इसमें अलग तरह की चुनौतियां है.’

(इनपुट-भाषा)