नई दिल्ली : दक्षिण अफ्रीका के कप्तान फाफ डु प्लेसिस ने शुक्रवार को संकेत दिए हैं कि वह 2020 में खेले जाने वाले टी-20 विश्व कप के बाद खेल के सबसे छोटे प्रारुप से संन्यास ले सकते हैं. दक्षिण अफ्रीका को शनिवार को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एक मात्र टी-20 मैच खेलना है. क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने डु प्लेसिस के हवाले से लिखा है, “ऑस्ट्रेलिया में टी-20 विश्व कप ज्यादा दूर नहीं है. हम उसके लिए यहां वापस आएंगे और हो सकता है कि वो मेरा आखिरी अंतर्राष्ट्रीय टूर्नामेंट हो.”

डु प्लेसिस ने कहा है कि घरेलू टी-20 लीग ज्यादा होने के कारण टी-20 विश्व कप के अलावा किसी और टूर्नामेंट में अपनी सर्वश्रेष्ठ टीम उतारना मुश्किल हो गया है. डु प्लेसिस को लगता है कि इस पर अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) को ध्यान देना चाहिए.

IPL 2019 से पहले 71 खिलाड़ी हुए बाहर, जानें किस टीम ने किसे दी जगह

दक्षिण अफ्रीकी कप्तान ने कहा, “मैं ऐसा दूसरी टीमों में भी देख सकता हूं. अधिकतर मजबूत टीमें मैदान पर नहीं होती हैं जबकि प्रशंसक सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ियों को देखने के लिए आते हैं. मैं यहां खेल को आगे बढ़ते हुए देखना चाहता हूं, लेकिन टी-20 विश्व कप ऐसा है जिसके लिए मैं पूरी तरह से तैयार हूं. मेरे लिए हो सकता है कि वो आखिरी टूर्नामेंट हो.”दक्षिण अफ्रीका ने ऑस्ट्रेलिया को हाल ही में उसके घर में वनडे सीरीज में 2-1 से मात दी है.

डुप्लेसिस ने ऑस्ट्रेलियाई टीम को दी सलाह, कहा – कोहली को शांत रखना है तो चुप रहना

बता दें कि डु प्लेसिस ने अब तक 90 टेस्ट पारियां खेली हैं. इस दौरान उन्होंने 8 शतकों और 17 अर्धशतकों की मदद से 3302 रन बनाए. उनका सर्वश्रेष्ठ टेस्ट स्कोर 137 रन है. जब कि 119 वनडे पारियों में 4693 रन बना चुके हैं. डु प्लेसिस ने वनडे मैचों में 10 शतक और 29 अर्धशतक लगाए हैं. उनका टी-20 इंटरनेशनल करियर भी अच्छा रहा है. डु प्लेसिस ने 41 पारियों में 1237 रन बनाए हैं. इसमें 1 शतक और 7 अर्धशतक शामिल हैं.