नई दिल्ली : दक्षिण अफ्रीका के कप्तान फाफ डु प्लेसिस ने अपने साथी खिलाड़ियों को विश्व कप के दौरान ‘सुपरमैन बनने की कोशिश’ से बचने की सलाह देते हुए हार के डर से उबरने पर फोकस करने को कहा है. दक्षिण अफ्रीका पर बड़े मैचों में दबाव के आगे घुटने टेकने वाले ‘चोकर्स’ का ठप्पा लगा हुआ है. अभी तक वे विश्व कप के फाइनल में नहीं पहुंचे हैं और चार बार सेमीफाइनल में हार गए.

डु प्लेसिस ने कहा, ‘‘पिछले सभी विश्व कप में हम सुपरमैन की तरह कुछ करना चाहते थे. हम कुछ विशेष करने के प्रयास में रहे और वह नहीं कर सके जिसकी जरूरत थी.’’ उन्होंने कहा, ‘‘हम बार वह सही नहीं होता. हम विश्व कप में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन नहीं कर पाये और खुद पर काफी दबाव बना लिया. हम सिर्फ क्रिकेट पर फोकस करना चाहते हैं.’’

न्यूजीलैंड के पूर्व खिलाड़ी ने की धोनी की तारीफ, कहा- विरोधियों पर भारी पड़ते हैं माही

तीसरा विश्व कप खेलने जा रहे डु प्लेसिस ने कहा कि टूर्नामेंट के लिये मानसिक तैयारी काफी अहम है. उन्होंने कहा, ‘‘यही वजह है कि हम चाहते हैं कि टीम खुलकर खेले. उसे हार का खौफ नहीं हो. हमें मैच के दिन सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करना होगा और हर खिलाड़ी को अपनी ताकत का अहसास होना चाहिये.’’ दक्षिण अफ्रीका 30 मई को पहले मैच में इंग्लैंड से खेलेगी. यह मुकाबला लंदन में खेला जायेगा.

World Cup में सबसे ज्यादा रन बनाने का रिकॉर्ड सचिन के नाम, रोहित-कोहली के सामने चुनौती

दक्षिण अफ्रीका अपना दूसरा मुकाबला बांग्लादेश के खिलाफ 2 जून को खेलेगी. वहीं इसके बाद उसका सामना भारत से होगा. यह भारत का टूर्नामेंट में पहला मैच होगा. ये दोनों टीमें 5 जून को साउथेम्प्टन में आमने-सामने होंगी. इस तरह टीम आखिरी लीग मैच ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 6 जुलाई को खेलेगी. यह मैच मैनचेस्टर में आयोजित होगा. इसके बा 14 जुलाई को फाइनल खेला जायेगा.