वाइजैग में खेले गए पहले टेस्ट मैच में भारत के हाथों मिली 203 रनों की करारी हार के बाद दक्षिण अफ्रीकी टीम के कप्तान फाफ डु प्लेसिस (Faf Du Plessis) ने कहा कि भारत में दूसरी पारी में 350 रनों से अधिक का लक्ष्य कभी भी आसान नहीं रहा है। प्लेसिस ने हालांकि इस हार के बावजूद अपनी टीम की सराहना की। भारत ने मैच के आखिरी दिन मेहमान टीम को 191 पर ऑलआउट कर शानदार जीत हासिल की और तीन मैचों की सीरीज में 1-0 की बढ़त हासिल कर ली।

मैच के बाद प्लेसिस ने कहा, “हमने बल्ले से अच्छा प्रदर्शन किया। भारत ने हमसे अच्छी बल्लेबाजी की। मयंक और रोहित ने शानदार पारियां खेलीं। हमारे लिए 350 से अधिक का लक्ष्य पार पाना आसा नहीं था क्योंकि भारत में दूसरी पारी में इतने रन बनाना कभी भी आसान नहीं रहा है।”

भारत ने पहले खेलते हुए सात विकेट पर 502 रनों पर अपनी पारी घोषित कर दी थी। इसके बाद मेहमान टीम ने अपनी पहली पारी में 431 रन बनाए। भारत ने चार विकेट पर 323 रन बनाकर दूसरी पारी घोषित की और मेहमानों को 395 रनों का लक्ष्य दिया। जवाब में खेलते हुए मेहमान टीम 191 रनों पर आउट हो गई। दोनों पारियों में शतक लगाने वाले भारतीय सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा (Rohit Sharma) को प्लेयर ऑफ द मैच चुना गया।

वाइजैग जीत पर कप्तान विराट कोहली ने बल्लेबाजों-गेंदबाजों की तारीफ की

प्लेसिस ने माना कि पहली पारी में अच्छा खेलने के बाद उन्हें लगा था कि मैच पर उनकी टीम पकड़ बना लेगी लेकिन रोहित और चेतेश्वर पुजारा (Cheteshwar Pujara) की पारियों ने मैच भारत के पक्ष में लाकर खड़ा कर दिया।

प्लेसिस ने कहा, “आज सुबह तक मैं सोच रहा था कि हम एक अच्छी विकेट पर अच्छा खेले। हम मैच में वापसी कर सकते थे लेकिन रोहित और पुजारा ने हमारा काम खराब कर दिया। इसके बाद आज शमी ने शानदार गेंदबाजी की। हमने अपने स्पिनरों से चार-पांच और विकेटों की दरकार है। अब हमें इस बार से आगे बढ़ते हुए दूसरे टेस्ट की तैयारी में जुट जाना होगा।”