भारत के पूर्व विकेटकीपर बल्‍लेबाज फारुख इंजीनियर ने अनुष्‍का शर्मा पर विवादित बयान पर माफी मांग ली है. इंजीनियर ने साफ किया कि उनका इरादा अनुष्‍का या विराट को आहत करना नहीं था.

रिपब्‍लिक टीवी से बातचीत करते हुए फारुख इंजीनियर ने कहा, “अनुष्‍का शर्मा के नाम का इस्‍तेमाल हल्‍के फुलके अंदाज में किया गया था. मेरा मकसद उन्‍हें नाराज करना नहीं था. अगर उन्‍हें इससे दुख पहुंचा है तो मुझे इसके लिए खेद है.”

पढ़ें:- फारुख इंजीनियर के बयान पर बिफरे मुख्‍य चयनकर्ता, बोले- 82 साल की उम्र…

हालांकि फारुख इंजीनियर ने यह भी साफ किया कि चयनकर्ता द्वारा अनुष्‍का को चाय पिलाने वाली घटना वर्ल्‍ड कप 2019  के दौरान हुई थी. “मेरा मकसद अनुष्‍का की आलोचना करना नहीं था. वो बेहद शानदार महिला हैं. साथ ही बहुत ही अच्‍छी इंसान भी हैं. अगर उन्‍हें बुरा लगा है तो मैं उनसे माफी मांगना चाहूंगा.”

फारुख इंजीनियर ने कहा, “मेरा मकसद केवल चयनकर्ताओं पर सवाल उठाना था जो अपना काम ठीक से नहीं कर रहे हैं. अनुष्‍का और विराट के खिलाफ मैं कुछ नहीं कहना चाहता था.”

पढ़ें:- फारुख इंजीनियर के बयान से तिलमिलाई अनुष्‍का, बताया वर्ल्‍ड कप में चाय परोसे जाने का पूरा सच

“यह एक मजाकिया अंदाज में कही गई बात थी. विराट कोहली एक शानदार खिलाड़ी हैं. रवि शास्‍त्री भी अपनी भूमिका बेहद अच्‍छे से निभा रहे हैं. यह पूरा मामला गलत तरीके से इतना बढ़ गया. यह केवल एक चयनकर्ता पर उठाया गया सवाल था जो भारतीय क्रिकेट टीम का कोर्ट पहने हुए था.”

बता दें कि फारुख इंजीनियर ने अपने बयान में मौजूदा चयन समिति की जमकर आलोचना करते हुए उन्‍हें कार्टून किरदार मिकी माउस जैसा बताया था. उनका कहना था कि चयन समिति में मौजूद सभी पूर्व खिलाड़ियों के पास कुल 12 टेस्‍ट मैच खेलने का भी अनुभव नहीं है.