नई दिल्ली। फीफा अंडर-17 विश्व कप के ग्रुप-ए के दूसरे मैच में सोमवार को मेजबान भारत को रोमांचक मैच में कोलंबिया के हाथों हार का सामना करना पड़ा. कोलंबिया ने जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम में खेले गए मैच में भारत को संघर्ष भरे मुकाबले में 2-1 से मात दी. कोलंबिया के लिए 49वें और 83वें मिनट में जुयान सेबास्टियन पेनालोजा ने दो गोल दागे. भारत के लिए एक मात्र गोल जैक्सन सिंह ने 82वें मिनट में किया. किसी भी फीफा टूर्नामेंट में यह भारत की तरफ से पहला गोल था. Also Read - FIFA Under-17 World Cup in India becomes most-attended Under-17 tournament । भारत ने फीफा अंडर-17 वर्ल्ड कप में रचा नया इतिहास, इस मामले में तोड़ा चीन का रिकॉर्ड

भारत ने हालांकि इस मैच में उम्मीद से कहीं बेहतर खेल दिखाया और अपने बेहतरीन डिफेंस के दम पर कोलंबिया को पहले हाफ में एक भी गोल नहीं करने दिया. भारत इस मैच में कभी भी बैकफुट पर या किसी तरह के दबाव में नहीं दिखा और उसने लगातार अपने बेहतरीन खेल से सभी को प्रभावित किया. इस हार के बाद हालांकि भारत की अंतिम-16 में पहुंचने की उम्मीदें खत्म हो चुकी हैं. वहीं कोलंबिया ने अपनी अंतिम-16 में पहुंचने की उम्मीदों को जिंदा रखा है. Also Read - England beat Brazil by 3-1 to reach FIFA Under-17 World Cup final । ब्राजील को 3-1 से मात देकर इंग्लैंड ने बनाई फीफा अंडर-17 वर्ल्ड कप फाइनल में जगह

Fifa U-17 world cup LIVE: India vs Columbia football match Live score update in Hindi | फीफा अंडर-17 फुटबाल वर्ल्डकप LIVE: कोलंबिया के खिलाफ भारत को मिलेगी कड़ी चुनौती, जानें लाइव स्कोर

Fifa U-17 world cup LIVE: India vs Columbia football match Live score update in Hindi | फीफा अंडर-17 फुटबाल वर्ल्डकप LIVE: कोलंबिया के खिलाफ भारत को मिलेगी कड़ी चुनौती, जानें लाइव स्कोर

मिडफील्डर जैकसन इस तरह भारत के लिये किसी भी फीफा टूर्नामेंट में गोल करने वाले पहले फुटबालर बन गये. पहला मैच जहां पदार्पण के लिहाज से अहम रहा तो दूसरा मैच पहले गोल के लिये इतिहास के पन्नों में दर्ज हो गया. मेजबान टीम कोलंबिया के लंबी कद काठी के खिलाडियों को चुनौती देती दिखी लेकिन उनके खेल में अनुभव की कमी दिखायी दी क्योंकि मैच में ज्यादातर समय गेंद कोलंबियाई खिलाडियों के पास रही. Also Read - High-spirited India brace up for tough Ghana challenge | फीफा U-17 वर्ल्ड कप 2017: आत्मविश्वास से भरी भारतीय टीम को घाना से कड़ी चुनौती

हालांकि अमेरिका के खिलाफ जज्बाती प्रदर्शन से खिलाड़ियों के मैदान पर आत्मविश्वास जरूर बढा हुआ था. भारतीय कोच लुई नोर्टन डि माटोस मैदान पर खिलाड़ियों को चिल्लाकर इशारों से समझाते दिख रहे थे. वहीं जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम में पहले मैच से कहीं ज्यादा मौजूद दर्शकों ने मेजबान खिलाड़ियों के हर मूव पर उत्साह बढाया.

भारतीय गोलकीपर धीरज मोइरांगथेम को आज भी कई शानदार बचाव करने के लिये तालियों के रूप में दर्शकों की प्रशंसा मिली. भारत ने 16वें मिनट में एक सुनहरा मौका गंवाया जब अभिजीत सरकार को गोल करने का बेहतरीन अवसर मिला लेकिन विपक्षी टीम के गोलकीपर केविन मिएर ने इसका उतना ही अच्छा बचाव भी किया.

कोलंबिया के लिये 37वें मिनट में लिएंडरो कैम्पाज ने क्रास को नेट में पहुंचाने के लिये खूबसूरत हेडर लगाया, पर पहले मैच में अमेरिका के कोच से वाहवाही लूटने वाले धीरज ने इसका सफल बचाव किया. पहले हाफ के अंतिम मिनट में सरकार विपक्षी टीम के दो मिडफील्डरों को पीछे छोड़ते हुए नेट की ओर बढे, उन्होंने दायीं ओर निनथोइंगंगबा मीतेई को पास दिया जो कामयाब नहीं रहा. इंजुरी टाइम में डिफेंडर बोरिस थांगजाम के प्रयास से गेंद राहुल कैनोली के पास पहुंची जिन्होंने लंबा शाट लगाया जो क्रासबार से लगकर बाहर चला गया.

Agency Inputs