नई दिल्ली. दुनिया के सबसे लोकप्रिय महाकुंभ, फुटबॉल वर्ल्ड कप के ओपनिंग गेम में मुकाबला रैंकिंग में टूर्नामेंट की दो सबसे नीचले दर्जे की टीमों के बीच था. ये मुकाबला था फीफा रैंकिंग में 70वीं रैंक वाली टीम रूस और 67वीं रैंक वाली टीम सउदी अरब के बीच. फुटबॉल वर्ल्ड कप में हुई पिछली मुलाकात में सउदी अरब ने रूस को चारों खाने चित्त कर दिया था लेकिन इस बार ऐसा नहीं था. टूर्नामेंट की मेजबानी कर रहे रूस ने अपने समर्थकों के आगे खेलते हुए सउदी अरब को इतिहास दोहराने का मौका नहीं दिया बल्कि उनके खिलाफ जीत का पंच जड़कर खुद ही नया कीर्तिमान गढ़ दिया. दूसरे लहजे में कहें तो फुटबॉल विश्व कप 2018 के ओपनिंग मैच में रूस ने न सिर्फ सउदी अरब को कस के जकड़ा बल्कि उन्हें जकड़कर एक रिकॉर्ड के मामले में 5 बार की वर्ल्ड चैम्पियन रही ब्राजील की टीम को पकड़ा भी है.

सउदी अरब को ‘जकड़ा’, ब्राजील को ‘पकड़ा’

टूर्नामेंट की मेजबान रूस ने ऐसा किया कैसे अब जरा वो समझिए. रूस ने सउदी अरब को 5-0 से हराया. इस जीत की स्क्रिप्ट लिखते वक्त पहले हाफ में उसने दो गोल दागे जबकि मैच के दूसरे हाफ में 3 गोल पोस्ट किए. सउदी अरब पर रूस की 5-0 की जीत फीफा वर्ल्ड कप के इतिहास के ओपनिंग गेम में हासिल की हुई सबसे बड़ी जीत की बराबरी है. इससे पहले ब्राजील ने 74 साल पहले 1954 में खेले फीफा वर्ल्ड कप के ओपनिंग मैच में मेक्सिको को 5- 0 से हराया था.

रूस ने बरकरार रखा रिकॉर्ड

रूस ने सउदी अरब को हराकर ब्राजील के रिकॉर्ड की तो बराबरी की ही साथ ही फीफा वर्ल्ड कप के एक और रिकॉर्ड को भी बरकरार रखा है. दरअसल, फीफा वर्ल्ड कप का ये इतिहास रहा है कि अब तक ओपनिंग गेम में मेजबान टीम को हार का सामना कभी नहीं करना पड़ा है. रूस की जीत वर्ल्ड कप के ओपनिंग मैच में मेजबान टीम की 16वीं जीत थी. इसे मिलाकर अब तक 22 बार मेजबान टीम ने ओपनिंग मैच में शिरकत की जिसमें 16 बार उनके खाते में जीत आई जबकि 6 बार मुकाबला ड्रॉ रहा.