भारतीय फुटबालर संदेश झिंगन (Sandesh Jhingan) का मानना है कि फुटबाल जल्द ही लोगों के चेहरों पर मुस्कान लेकर आएगा। झिंगन ने मुस्कुराते हुए कहा, “लेकिन इसके लिए हमें जिम्मेदार होने की जरूरत है ना कि किसी भी तरह की मूर्खता में लिप्त होने की। ये मुश्किल समय है। ये समय एक राष्ट्र के रूप में हमें अपना चरित्र दिखाने का है। हमें अधिकारियों के निर्देशों का पालन करने और उनका सहयोग करने की जरूरत है।” Also Read - Full Lockdown in Maharashtra Updates: महाराष्ट्र में पूर्ण लॉकडाउन लगेगा या नहीं? मंत्री ने कहा, कल फैंसला लेंगे मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे

झिंगन इस समय चंडीगढ़ में अपने परिवार के साथ हैं। उन्होंने कहा कि वो दिन दूर नहीं जब ‘पूरी दुनिया में फिर से फुटबॉल वापस आएगा।’ उन्होंने कहा, “इतिहास आपको बताएगा कि खेल हमेशा एकता का प्रतीक रहा है और इतिहास फिर से खुद को दोहराएगा।” Also Read - COVID-19: देश की सड़कें फिर नजर आईं सूनी, कोरोना संक्रमण के 72 फीसदी से ज्‍यादा केस सिर्फ इन 5 राज्यों से हैं

भारतीय खिलाड़ी इस समय खुद को फिट रखने के लिए जिम में पसीना बहा रहे हैं। इसके अलावा वह बाकी का समय अपने परिवार के साथ बिता रहे हैं Also Read - Lockdown in Chhattisgarh: छत्तीसगढ़ के इस जिले में 19 अप्रैल तक लगा लॉकडाउन, शराब की दुकाने बंद; जानिए क्या है टाइमिंग और पाबंदियां

झिंगन ने कहा, “मेरे लिए जीवन की परिभाषा शिकायत करना नहीं है, लेकिन वर्तमान स्थिति कुछ पाने का सबसे अच्छा तरीका है। इस दौर में परिवार के साथ पर्याप्त समय नहीं बिताने के कारण लगभग हर कोई शिकायत करता है। लेकिन अब जब सभी को घर पर रहने के लिए कहा गया है, तो लोग अन्यथा महसूस करते हैं।”

उन्होंने लोगों को घर से काम करने की सलाह देते हुए कहा, ” घर से ही अपने आफिस का काम करें। अपने बच्चों के साथ खेलें, अपने माता-पिता की देखभाल करें, सभी के साथ बात करें। एक परिवार के रूप में रहें और जिम्मेदार बनें। आपने यह सब कब किया? अपने परिवार को मजबूत करें।”